ताज़ा खबर
 

नई दिल्ली स्टेशन पर पटरी से उतरा जम्मू राजधानी का डिब्बा

य़ह हादसा आज करीब 6 बजे हुआ, उस वक्त ट्रेन नई दिल्ली स्टेशन पहुंची थी।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय राजधानी में आज जम्मू तवी-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस की एक बोगी नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पटरी से उतर गई। हालांकि इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ है। उत्तर रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह घटना आज सुबह करीब छह बजे ट्रेन के प्लेटफार्म में प्रवेश करते समय हुई। अधिकारी ने बताया कि इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ है। हालिया दिनों में ट्रेनों के डिब्बे पटरी से उतरने की कुछ घटनाएं हुई हैं। सिलसिलेवार रेल हादसों के बाद सुरेश प्रभु ने इस्तीफे की पेशकश की थी। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे इंतजार करने को कहा था। इसके बाद मोदी कैबिनेट का विस्तार हुआ तो पीयूष गोयल को रेल मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया। लेकिन उनके पद संभालने के अगले ही दिन तीन ट्रेनें पटरी से उतर गई थीं। 7 सितंबर को  महाराष्‍ट्र के खंडाला में एक मालगाड़ी के दो डिब्‍बे ट्रैक से उतर गए थे। इसी दिन दोपहर 12 बजे के आस-पास झारखंड के रांची से नई दिल्ली आ रही राजधानी एक्सप्रेस के दो डिब्बे गुरुवार को मिंटो ब्रिज स्टेशन के पास पटरी से उतर गए। हालांकि, इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ था। उत्तरी रेलवे के प्रवक्ता नीरज शर्मा ने आईएएनएस को बताया था कि झारखंड के रांची से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन आते समय गुरुवार पूर्वाह्न 11.45 बजे रेलगाड़ी का इंजन और पावर डिब्बा बेपटरी हो गया। उससे भी पहले, उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के पास गुरुवार को शक्तिपुंज एक्सप्रेस के सात डिब्बे पटरी से उतर गए थे।

पीयूष गोयल ने कैबिनेट फेरबदल के बाद सोमवार (4 सितंबर) को रेलमंत्री का पदभार संभाला था। उन्‍होंने 2019 के चुनाव से पहले तक का अपना अजेंडा तय किया था, जिसमें स्‍पीड पर फोकस था। गोयल ने ट्रेनों की स्पीड बढ़ा कर उन्हें सुपर फास्ट कैटेगरी में शामिल करने के निर्देश दिए हैं। सभी ट्रेनों से इंडियन टॉयलेट हटने जा रहे हैं, जनवरी 2018 तक सभी बोगियों में आपको बॉयो-टॉयलेट दिखेंगे। सभी रूटों के इलेक्ट्रिफिकेशन पर जोर दिया जा रहा है। रेलवे के सामने सबसे बड़ी चुनौती मैनपावर ढूंढ़ने की है। वैसे तो ट्रेनों में बॉयो टॉयलेट लगाने के लिए डेडलाइन 2019-20 है लेकिन पीयूष गोयल इसे जनवरी 2018 तक पूरा कर देना चाहते हैं। ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाना एक ऐसा मुद्दा है जिस पर पीएम मोदी और पीएमओ भी जोर दे चुके हैं। रेल मंत्रालय से मिली खबरों के मुताबिक निकट भविष्य में लगभग 700 ट्रेनों को अपग्रेड किया जाएगा. कई पैसेंजर्स ट्रेन को मेल या एक्सप्रेस में बदला जाएगा और कई एक्सप्रेस ट्रेनों को सुपरफास्ट ट्रेनों में बदला जाएगा।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. N
    Nadeem Ansari
    Sep 14, 2017 at 1:16 pm
    No problem desh wasiyon we have bullet train now...
    (0)(0)
    Reply
    1. M
      manish agrawal
      Sep 14, 2017 at 8:41 am
      पियूष गोयलजी ! रेलवे के संकट काटने के लिए अजमेर शरीफ पर चादर चढ़ाइये (अब तो मोदीजी ही अहमदाबाद की मस्जिद में हो आये ) ! अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में , एक दिन का लंगर बरताईये !
      (1)(0)
      Reply
      1. M
        manish agrawal
        Sep 14, 2017 at 8:24 am
        पियूष गोयलजी ! रुद्राभिषेक , लक्षचंडी यज्ञ , श्रीमद्भागवत पाठ इत्यादि करवाईये ! बीजेपी की रेलगाड़ी पटरी से उतर चुकी है !
        (0)(0)
        Reply