ताज़ा खबर
 

केरल: प्रेमी के साथ मिलकर 3 साल की बेटी और सास की ह्त्या की, मिली उम्रकैद की सज़ा

प्रमुख सत्र न्यायाधीश वी शेरसी ने दोषी नीनो मैथ्यू और अनु शांति पर 50-50 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया। दोनों दोषी सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं।
Author तिरुवनंतपुरम | April 18, 2016 19:59 pm
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

एक आईटी पेशेवर को अपनी सहकर्मी और प्रेमिका की तीन साल की बेटी और सास की हत्या करने और उसके पति की हत्या का प्रयास करने को लेकर सोमवार (18 अप्रैल) को मौत की सजा सुनाई गई जबकि महिला को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई। अदालत ने महिला को सजा सुनाते हुए कहा कि उसका आचरण मातृत्व का अपमान है।

प्रमुख सत्र न्यायाधीश वी शेरसी ने दोषी नीनो मैथ्यू और अनु शांति पर 50-50 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया। दोनों दोषी सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। जुर्माने की राशि में से अदालत ने 50 लाख रुपए अनु शांति के पति लिजेश को और 30 लाख रुपए थंकप्पन चेट्टियार को देने को कहा। चेट्टियार की पत्नी की जबकि लिजेश की बेटी की मैथ्यू ने हत्या की।

सजा सुनाते वक्त न्यायाधीश ने कहा कि यह ‘दुर्लभतम से दुर्लभ’ मामला है और अपराध को बर्बर और जघन्य करार दिया। न्यायाधीश ने यह भी कहा कि यद्यपि अनु शांति ने अपराध में सक्रियता से हिस्सा लिया लेकिन उसे मौत की सजा से इसलिए छूट दी जा रही है क्योंकि वह महिला है।

हालांकि, अदालत ने कहा कि वह मातृत्व का अपमान है। अदालत ने यह भी कहा कि तीन वर्षीय बच्ची और 60 वर्षीय लाचार महिला की क्रूर तरीके से हत्या की गई। फैसला सुनाए जाने के बाद लोक अभियोजक विनीत कुमार ने कहा कि वह फैसले से पूरी तरह संतुष्ट हैं।

नीनो मैथ्यू और अनु शांति को अदालत ने पिछले सप्ताह आईपीसी के तहत धारा 120 बी (आपराधिक साजिश), 302 (हत्या), 307 (हत्या का प्रयास), 449 (अनधिकार प्रवेश), 201 (साक्ष्य को नष्ट करना) और 380 (चोरी) और आईटी अधिनियम की धारा 67 ए के तहत दोषी ठहराया था।

नीनो मेथ्यू ने अपनी प्रेमिका अनु शांति की बेटी स्वास्तिका और सास ओमाना (60) की बर्बर तरीके से हत्या कर दी थी और उसके पति लिजेश की भी हत्या का विफल प्रयास किया था। हालांकि, लिजेश हमले में जख्मी होने के बावजूद बच गया था।

नीनो ने दोनों हत्याएं करने के बाद अपराध स्थल पर लिजेश के लिए तकरीबन आधे घंटे तक इंतजार किया था। लिजेश घटना के समय घर पर नहीं था। आरोपी की पहचान को लेकर उसका बयान मामले में एक अहम साक्ष्य था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग