ताज़ा खबर
 

केरल फिल्म फेस्टिवल में राष्ट्रगान का अपमान करने पर एक महिला समेत 6 लोग गिरफ्तार

मामला इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ केरला का है। तिरुवनंतपुरम में आयोजित इस फेस्टिवल में सोमवार को पुलिस ने 6 प्रतिनिधियों को हिरासत में ले लिया।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा फिल्म दिखाने से पहले राष्ट्रगान को अनिवार्य करने के आदेश के उल्लंघन के आरोप में केरल में 6 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इनमें एक महिला भी शामिल है। मामला इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ केरला का है। तिरुवनंतपुरम में आयोजित इस फेस्टिवल में सोमवार को पुलिस ने 6 प्रतिनिधियों को हिरासत में ले लिया। इन सभी पर राष्ट्र गान के दौरान खड़ा नहीं होने का आरोप है।

फिल्म फेस्टिवल के आयोजकों ने शुक्रवार को यह कहते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था कि फेस्टिवल में शामिल होने वालों में करीब 100 विदेशी हैं। इसलिए राष्ट्रगान में खड़े होने की अनिवार्यता से उन्हें छूट दी जाय। आयोजकों ने कोर्ट में यह भी तर्क दिया कि इससे विदेशियों को असुविधा होगी। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि गिरफ्तार किए गए लोगों में कोई भी विदेशी नागरिक है या नहीं।

याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस अमित्व रॉय की खंडपीठ ने कहा, “सिर्फ कुछ विदेशी मेहमानों को खुश करने के लिए या उन्हें दिक्कत न हो इसके लिए हम अपने आदेश में बदलाव नहीं ला सकते। अगर वहां 40 अलग-अलग फिल्में अलग-अलग शो में दिखाई जा रही हैं तब भी 40 बार आपको खड़ा होना होगा।”

गौरतलब है कि चेन्नई शहर के एक थिएटर में भी रविवार शाम उस समय महौल गर्मा गया जब राष्ट्रगान के अपमान के आरोप में एक युवक और दो लड़कियों के साथ मारपीट की गई। जानकारी के मुताबिक, रविवार को ‘चेन्नई 28-II’ फिल्म से पहले चलाए गए राष्ट्रगान के समय कुछ लोग सम्मान में खड़े नहीं हुए थे। इसके बाद दो गुटों में बहस शुरू हो गई और मारपीट होने लगी। इसमें 20 लोगों के एक ग्रुप ने दो लड़कियों और एक युवक को बुरी तरह पीट दिया। चेन्नई के अशोक नगर स्थित काशी थिएटर में यह लोग शो देखने गए थे और मारपीट इंटरवल के दौरान हुई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि राष्ट्रगान के दौरान ऐसे नौ लोग थे जो खड़े नहीं हुए थे।

वीडियो देखिए- कोर्ट में राष्ट्रगान बजाने को लेकर दायर हुई याचिका; सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई करने से इंकार

वीडियो देखिए- चर्चा: फिल्म से पहले सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Avi
    Dec 12, 2016 at 4:14 pm
    अब हम कभी सिनेमा हॉल में पिक्चर देखने नहीं जायेंगे...ये लोग बनाते रहे फ़ालतू के नियम...लोग फिल्म देखने मनोरंजन करने जाते हैं या देशभक्ति करने? देशभक्ति करनी है तो अपने न्यायालय में करें, संसद में करें, अपनी राजनीतिक रैलियों में करें. वहाँ जितनी बार चाहें उतनी बार "जन गण मन" गा लें ... लेकिन देशभक्ति का स्वांग करने के लिए सिनेमा हॉल कोई जगह नहीं है.... कहीं किसी देश का राष्ट्रगान अँधेरे में गाया जाता है? ऐसे नियम से ये लोग देश को अन्धकार में धकेल रहे हैं
    (0)(0)
    Reply