December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी: बैंकों में मारामारी के बीच महाराष्ट्र और केरल में दो की मौत

48 वर्षीय उन्नी 5.50 लाख रुपए जमा करने के लिए जरूरत फॉर्म भर रहे थे उसी दौरान उनकी मौत हो गयी।

Author मुंबई/थालास्सेरी (केरल) | November 11, 2016 21:24 pm
कड़ी सुरक्षा के बीच केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम में बैक से लाए गए नए नोट। (PTI File Photo)

प्रतिबंधित नोटों को जमा कराकर नए नोट लेने के लिए बैंकों में उमड़ी लाखों लोगों की भीड़ के बीच महाराष्ट्र और केरल में हुई अलग-अलग घटनाओं में शुक्रवार (11 नवंबर) को दो लोगों की मौत हो गई । इस बीच, बैंकों और एटीएम में नगद की कमी लगातार दूसरे दिन भी देखी गई। सुबह से ही देश भर के बैंकों में मची मारामारी के बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उस वक्त लोगों को चौंका दिया जब वह नई दिल्ली में संसद मार्ग स्थित भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की शाखा में पहुंचे और आम लोगों की तरह कतार में खड़े होकर 500 और 1000 रुपए के अपने पुराने नोट बदलवाए। उन्होंने कहा कि भीड़ के कारण धैर्य खो रहे लोगों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए वह बैंक आए हैं।

लोगों को तत्काल राहत मिलती आज (शुक्रवार, 11 नवंबर) भी नहीं दिखी। नगद की कमी से जूझ रहे कई लोगों को उस वक्त वापस जाने के लिए कह दिया गया जब कई शाखाओं में बैंक के सर्वर कथित तौर पर ठप पड़ गए। एटीएम का भी कुछ ऐसा ही हाल रहा। कई एटीएम में तो पैसे कुछ ही घंटों में खत्म हो गए। लोग कई-कई घंटे कतार में खड़े होने के बाद ही अपने पुराने नोट बदलकर नए नोट हासिल कर सके। पुलिस ने बताया कि मुंबई के मुलुंड के नवघर इलाके में नोट बदलने की खातिर एसबीआई की एक शाखा के सामने लंबी कतार में खड़े 73 साल के विश्वनाथ वर्तक बेहोश हो गए और फिर उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

वर्तक 500 और 1000 रुपए के अपने नोट बदलवाने के लिए कतार में कई घंटे से खड़े थे। मौके पर मौजूद कुछ लोग उन्हें ले अस्पताल गए, लेकिन भर्ती करने से पहले ही उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। केरल के थालास्सेरी के एक बैंक में 500 और 1000 रुपए के नोट से युक्त पांच लाख रुपए जमा कराने आए 48 साल के एक शख्स की इमारत की दूसरी मंजिल से गिरने से मौत हो गई। केरल राज्य विद्युत बोर्ड के कर्मचारी उन्नी जब दूसरी मंजिल से गिरे उस वक्त वह स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर की शाखा में धनराशि जमा कराने के लिए जरूरी फॉर्म भर रहे थे। बैंक की शाखा इमारत की पहली मंजिल पर स्थित है।

उन्नी अपने पैसे जमा कराने के लिए गुरुवार (10 नवंबर) को भी बैंक आए थे लेकिन काम नहीं हो सका था। इसलिए वह आज (शुक्रवार, 11 नवंबर) फिर बैंक आए। इस बीच, केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से कहा है कि वे सभी बैंकों, एटीएम और नगद लेकर जाने वाले वाहनों की उचित सुरक्षा सुनिश्चित करें। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने तीन अधिकारियों को प्रतिनियुक्त कर राज्य सरकारों के संपर्क में रहने का निर्देश दिया है ताकि सभी बैंकों, एटीएम और नगद लेकर जाने वाले वाहनों की उचित सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि तीनों अधिकारी राज्यों के पुलिस महानिदेशकों से नियमित तौर पर इस बाबत प्रतिक्रिया ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार उम्मीद कर रही है कि अगले चार-पांच दिनों में हालात सामान्य हो जाएंगे।

अधिकारी ने कहा कि इस बाबत राज्यों को दो अलग-अलग परामर्श भी भेजे गए हैं। बहरहाल, पिछले दो दिन से पैसे हासिल करने की कोशिश कर रहे लोग आज (शुक्रवार, 11 नवंबर) सुबह से ही एटीएम के सामने कतार में खड़े हो गए, लेकिन कई जगहों पर एटीएम मशीनें काम नहीं कर रही थीं। आक्रोशित लोगों को शांत कराने के लिए बैंकों को कई जगह पुलिस की भी मदद लेनी पड़ी। बैंक कर्मियों को भी ग्राहकों को संभालने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

प्रमुख ख़बरों से जुड़े वीडियो

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 11, 2016 8:38 pm

सबरंग