May 24, 2017

ताज़ा खबर

 

खुले बोरवेल को ढकने के लिए किसान ने शुरू की मुहिम, फोटो भेजें और जीतें ईनाम

शिवन्ना के मन में यह विचार तब आया जब उन्हें पता चला कि एक बोरवेल से 6 साल की बच्ची का शव मिला।

62 साल के इस किसान ने अपनी आय में से 1 लाख रुपये ईनाम के लिए निकाल दिया है। (File Photo)

बोरवेल में बच्चे के गिरने की घटनाएं आए दिन सामने आती रहती है। अब तक ऐसे हादसों में कई बच्चे अपनी जान गंवा चुके हैं। इसके बावजूद भी ऐसे मामले सामने आ ही जाते हैं। ऐसे हादसे फिर न हो इसके लिए सरकार द्वारा तो कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया, लेकिन एक किसान ने इसके लिए एक पहल जरुर की है। बेंगलुरु से 375 किलोमीटर दूर गंगावती के रहने वाले डीएम मरन्ना उर्फ शिवन्ना नाम के किसान ने जगह-जगह खुले पड़े बोरवेल को ढकने का बीड़ा उठाया है।

शिवन्ना ने ऐलान किया है कि जो भी लोग खुले पड़े बोरवेल को ढ़क कर उसकी तस्वीर उन्हें वाट्सऐप करेंगे तो वो उस आदमी को 500 रुपये ईनाम देंगे। 62 साल के इस किसान ने अपनी आय में से 1 लाख रुपये ईनाम के लिए निकाल दिया है। उन्होंने अपना वॉट्सऐप नंबर 8861318934 बताया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, किसान ने बताया कि लगभग 90 लोगों ने इनाम के लिए दावा किया है जिसमें से 10 को उनका इनाम दिया जा चुका है। उन्होंने बताया, ‘पहले लोग खुले हुए बोरवेल की तरफ ध्यान ही नहीं देते थे लेकिन अब वे ढूंढ ढूंढकर बोरवेल को कवर कर रहे हैं।’

शिवन्ना के मन में यह विचार तब आया जब उन्हें पता चला कि एक बोरवेल से 6 साल की बच्ची का शव मिला है। इसके बाद उन्होंने बोरवेल को ढकने के लिए मुहिम शुरू कर दी।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2000 से राज्य में बोरवेल की वजह से होने वाली 9 मौत की घटानाएं सामने आ चुकी हैं। सरकार का दावा है कि साल 2014 से अबतक 1.47 लाख बोरवेल कवर किए जा चुके हैं। इसके बावजूद ग्रामीण इलाकों में हादसों का सिलसिला रुक नहीं रहा है। शिवन्ना के पास 12 एकड़ जमीन है जिससे एक साल में 3 से 4 लाख तक कमा लेते हैं। इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए कुछ लोगों ने उन्हें आर्थिक मदद देने की भी पेशकश की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 2, 2017 6:05 pm

  1. No Comments.

सबरंग