ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: कांग्रेसी मिनिस्टर आर रोशन बेग ने तोड़ी मर्यादा, पीएम मोदी को खुलेआम दी गालियां

बीजेपी ने कर्नाटक सरकार के इस मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है और उनका इस्तीफा मांगा है।
कर्नाटक सरकार के शहरी विकास मंत्री आर रोशन बेग एक कार्यक्रम में (फोटो-Twitter/@RRoshanBaigOff1)

कर्नाटक सरकार के मंत्री आर रोशन बेग ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को खुले आम गालियां दी है। ये घटना तीन दिन पहले की है जब कर्नाटक शरकार के शहरी विकास मंत्री आर रोशन बेग पुलिकेशनगर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। तमिल भाषा में दिये गये कांग्रेसी मंत्री का ये वीडियो क्लिप जबर्दस्त वायरल हो रहा है। आर रोशन बेग ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा, ‘जब मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में सत्ता मिली तो लोगों ने कहा कि वे हमारे बेटे हैं, लेकिन अब क्या हुआ? उन्होंने 1000 के नोट बैन कर दिये?, 500 के नोट बैन कर दिये? अब ऐसे ही लोग उनपर हमला कर रहे हैं। इसके बाद आर रोशन बेग ने पीएम के खिलाफ एक गाली का इस्तेमाल किया। आर रोशन बेग ने आगे कहा, ‘ये कांग्रेस नहीं बल्कि गुजराती और मारवाड़ी हैं जिन्होंने बीजेपी को सपोर्ट किया था अब ऐसा कह रहे हैं।’ आर रोशन बेग ने कहा कि यही व्यापारी अब कह रहे हैं कि कमल का फूल हमारी भूल। कर्नाटक के शहरी विकास मंत्री आर रोशन बेग ने कहा कि इंदिरा गांधी, राजीव गांधी ने देश के लिए कुर्बानी दी, लेकिन बीजेपी बयानबाजी के अलावा कुछ नहीं कर सकती है।

आर रोशन बेग के इस बयान के बाद बीजेपी कांग्रेस पर हमलावर है। कर्नाटक से बीजेपी की सांसद शोभा कर्नादलजे ने कहा कि ऐसे शब्दों का इस्तेमाल कांग्रेस की संस्कृति का हिस्सा है। शोभा ने कहा कि आर रोशन बेग को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए साथ ही सीएम सिद्धारमैया को उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त करना चाहिए। बीजेपी प्रवक्ता मधुसूदन ने कहा कि पीएम मोदी सिर्फ बीजेपी के ही प्रधानमंत्री नहीं हैं, बल्कि वो पूरे देश के पीएम हैं। मधुसूदन ने कहा, ‘बेग को अपनी भाषा पर नियंत्रण रखना चाहिए अन्यथा हम उसी भाषा में जवाब देने को मजबूर देंगे जिस भाषा में वे लोगों की बात समझते हैं।’ जनता दल सेकुलर ने भी आर रोशन बेग के बयान की निंदा की है। पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा ने कहा कि चाहे जो भी हो लोगों को अपनी भावनाओं पर काबू रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुद्दों पर बात करने में कोई हर्ज नहीं है। लेकिन गलत भाषा के इस्तेमाल की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग