ताज़ा खबर
 

70 लाख की घड़ी और 70 हजार के जूते पहनते हैं कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया?

कुमारस्वामी का दावा है कि रोजाना राज्य सरकार चेकपोस्ट के जरिए 35 लाख रुपए की अवैध कमाई कर रही है।
Author बेंगलुरू | November 13, 2017 12:08 pm
कर्नाटक के सीएम सिद्दारमैया। (FIle Photo)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया एक बार फिर विवादों के घेरे में आ गए हैं। क्या आप जानते हैं कि सीएम सिद्धारमैया केवल 70 लाख रुपए की घड़ी ही नहीं बल्कि 70 हजार रुपए तक की कीमत वाले जूते पहनने का शौक रखते हैं? पहले सिद्धारमैया की घड़ी को लेकर विपक्ष ने उनपर आरोप लगाए थे और अब जूतों की कीमत सामने आने के बाद सीएम विवादों में घिर गए हैं। एनबीटी के अनुसार राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल (एस) के प्रदेश अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी ने सिद्धारमैया के जूतों की कीमत पर निशाना साधते हुए कहा कि सीएम 60 हजार से 70 हजार रुपए तक की कीमत वाले जूते पहनते हैं। इतना ही नहीं कुमारस्वामी ने सिद्धारमैया को ढोंगी भी बताया।

कुमारस्वामी ने कहा खुद आलीशान जीवन जीने वाले विपक्ष को दिखावा करने वाला बताते हैं। कुमारस्वामी यहीं नहीं रुके और उन्होंने सूबे की सरकार पर अवैध कमाई का भी आरोप लगा डाला। कुमारस्वामी का दावा है कि रोजाना राज्य सरकार चेकपोस्ट के जरिए 35 लाख रुपए की अवैध कमाई कर रही है। राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हर महीने राज्य परिवहन विभाग द्वारा चेकपोस्ट के जरिए ट्रक चालकों से 200 करोड़ रुपए की वसूली की जाती है। कुमारस्वामी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा यह वसूली अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी के फंड के लिए हो रही है।

बता दें कि कुमारस्वामी ने यह बात सिद्धारमैया के उस बयान पर कही जिसमें उन्होंने एक रैली के दौरान कुमारस्वामी पर हमला बोलते हुए कहा था कि ग्राम वास्तव्य योजना के तहत कुमारस्वामी द्वारा गांवों में जाकर लोगों के साथ रहना केवल एक पाखंड है। इतना ही नहीं सिद्धारमैया ने यह भी कहा था कि जिन-जिन गांवों में कुमारस्वामी ठहरे वहां पर पहले से शानदार बिस्तर और शौच के लिए कमोड की व्यवस्था की गई थी। उन्होंने गांव के लोगों की तरह वहां जीवन नहीं बिताया बल्कि उनके लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई थी।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.