ताज़ा खबर
 

वीडियो: नदी में गिर गई बस, गांव वालों ने रस्सी के जरिए बचा ली यात्रियों की जान

कर्नाटक के गडग जिले में भारी बारिश के कारण नदी उफान पर थी। इसी दौरान अचानक एक यात्री बस पानी के तेज बहाव में फंस गई।
रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर ग्रामीणों ने सभी यात्रियों को बस से सुरक्षित निकाल लिया। (Photo: ANI)

कर्नाटक में गांव वालों ने हिम्मत दिखाई तो बस में सवार कई यात्रियों की जान बच गई। नदी में अचानक फंसी बस के यात्रियों को ग्रामीणों ने बचा लिया। इस दौरान गांव वालों ने रस्सियों के सहारे पूरा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। कर्नाटक के गडग जिले में भारी बारिश के कारण नदी उफान पर थी। इसी दौरान अचानक एक यात्री बस पानी के तेज बहाव में फंस गई। यात्रियों से भरी बस का अगला हिस्सा पानी में आधा डूब गया था और लोग उसमें फंसे हुए थे। बस में सवार सभी यात्रियों की जान खतरे में थी। गांव वाले मदद के लिए आगे आए, लेकिन उनको भी उफनती नदी से यात्रियों को बाहर निकालने में मुश्किल हो रही थी। कोई राहत बचाव दल रेस्क्यू के लिए भी नहीं पहुंचा था। तभी कुछ गांव वालों ने हिम्मत दिखाते हुए लोगों को बचाने के लिए तरकीब निकाली। गांव वालों ने बस में फंसे यात्रियों को बस से बाहर निकालने के लिए रस्सी का सहारा लिया। रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर ग्रामीणों ने सभी यात्रियों को बस से सुरक्षित निकाल लिया।

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि बस पानी के तेज बहाव के बीच फंसी हुई है। बस का अगला हिस्सा पानी में डूबा हुआ है। पिछले पहिए भी आधे पानी में डूबे हुए हैं। बस से थोड़ी दूरी पर कुछ लोग खड़े हैं। उन लोगों ने बस तक एक रस्सी डाली हुई है। एक तरफ से रस्सी को बस में बांध रखा है। वहीं, दूसरी तरफ वहां मौजूद लोगों ने रस्सी को पकड़ रखा है। उसी रस्सी के सहारे लोग बस से दूसरी तरफ आ रहे हैं। सबसे पहले एक आदमी बस की पिछली खड़ी (इमरजेंसी खिड़की) से बाहर निकलता है।

वह रस्सी के सहारे पानी में चलकर दूसरी तरफ खड़े लोगों तक पहुंचता है। पानी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पानी में कूदते ही वह आदमी सीने तक पानी में डूब जाता है। पानी का बहाव बहुत तेज था। आपको बता दें कि कर्नाटक के कई हिस्‍सों में रविवार रात से भारी बारिश हो रही थी। इसके चलते हाइवे के किनारे गड्ढों में भी पानी भर गया है।

आंध्र प्रदेश में बड़ा ट्रेन हादसा, 8 कोच पटरी से उतरे, 39 की मौत, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.