ताज़ा खबर
 

पति के हत्या के आरोप में बीवी से बदसलूकी, सरेआम महिलाओं ने उतार दिए कपड़े

पीड़िता का मानना है कि मृतक का भाई (देवर) ने उसके खिलाफ साजिश रची है। यही नहीं उन लोगों ने पीड़िता के साथ अभ्रद व्यवहार करते हुए गांव से बाहर निकल जाने की धमकी दी है।
Author बेंगलुरु | February 13, 2017 11:04 am
बर्बरता के बाद महिला की मौत, कैदियों ने काटा हंगामा। (Representative Image)

कर्नाटक के विजयपुरा के सिंदगी कस्बे में एक महिला के साथ अभद्र व्यवहार का मामला सामने आया है। यहां कुछ महिलाओं के ग्रुप ने एक महिला को प्रताड़ित किया और सरेआम उसके कपड़े का उतार दिए। घटना 11 फरवरी (शनिवार) की बताई जा रही है। इस दौरान महिला मदद की गुहार लगाती रही और लोगों से पूछती रही कि उसकी क्या गलती है जो उसके साथ ऐसा सलूक किया जा रहा है। इस दौरान काफी संख्या में लोग मौजूद रहे। इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची।

बेंगलुरु मिरर की रिपोर्ट में केएसआरटीसी में काम करने वाला श्रीकांत 4 फरवरी को गायब हो गया था और 11 फरवरी को उसका शव बरामद किया गया था। इस मामले में पुलिस जांच कर रही थी और उसने पूछताछ के लिए मृतक की पत्नी को भी बुलाया था। शनिवार को 20-30 महिलाओं ने कथित तौर पर संदेह के आधार पर रेणुका के साथ अमानवीय व्यवहार किया। महिलाओं ने रेणुका के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए उसकी साड़ी निकाल दी। इस दौरान वह मदद की गुहार लगाती रही और पूछती रही कि उसकी क्या गलती है? मृतक के परिवार को शक है कि मर्डर के लिए रेणुका जिम्मेदार है। उन्होंने महिला पर एक्सट्रा मेरिटल अफेयर का आरोप लगाते हुए कहा कि उसी ने श्रीकांत की हत्या करवाई है।

पीड़िता का मानना है कि मृतक का भाई (देवर) ने उसके खिलाफ साजिश रची है। यही नहीं उन लोगों ने पीड़िता के साथ अभ्रद व्यवहार करते हुए गांव से बाहर निकल जाने की धमकी दी है। हालांकि, गांववालों का इस पर भिन्न-भिन्न मत है। कुछ लोगों का दावा है कि पति की मौत के बाद से महिला बीमार हो गई है। घटना के दौरान बहुत कम लोग महिला को बचाने के लिए पहुंचे। पुलिस ने कहा कि मामले की जानकारी मिलते ही टीम घटनास्थल पर पहुंच गई थी। पुलिस ने इस मामले में महिला से शिकायत दर्ज कराने की अपील भी की थी, लेकिन महिला से शिकायत दर्ज कराने से इंकार कर दिया है।

वीडियो: मानसिक रूप से बीमार बच्ची के साथ स्कूल प्रिंसिपल और 3 अध्यापकों ने किया गैंगरेप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.