June 29, 2017

ताज़ा खबर
 

इस ट्रैफिक पुलिस अफसर ने मरीज के लिए रोक दिया राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का काफिला, देखें वीडियो

कर्नाटक के एक ट्रैफिक पुलिस अफसर की सोशल मीडिया पर काफी वाहवाही हो रही है।

एम. एल. निजलिंगप्पा। (Source:Twitter/@DCPTrEastBCP)

कर्नाटक के एक ट्रैफिक पुलिस अफसर की सोशल मीडिया पर काफी वाहवाही हो रही है। न सिर्फ सोशल मीडिया बल्कि अफसर को वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इनाम देने की घोषणा भी की गई है और इसकी वजह जानकर आप भी गर्व महसूस करेंगे। एम. एल. निजलिंगप्पा ट्रैफिक पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के पद पर नियुक्त हैं। उनकी तारीफ, उनकी ड्यूटी निभाने को लेकर की जा रही है। निजलिंगप्पा ने एक एम्बुलेंस को रास्ता देने के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के काफिले को ही रोक दिया। बीते शनिवार (17 जून) को निजलिंगप्पा की तैनाती बेंगलुरु के ट्रिनिटी सर्किल पर थी। इस दौरान एक एम्बुलेंस को उन्होंने बड़ी ही मुस्दैती से निकलवाया और इस काम के लिए वह राष्ट्रपति के काफिले को रोकने में भी नहीं हिचकिचाए। बता दें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राज्य की नई मेट्रो ग्रीन लाइन के उद्घाटन के लिए बेंगलुरु में मौजूद थे।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का काफिला राज भवन की तरफ बढ़ रहा था। ठीक उसी समय एक एम्बुलेंस भी एक निजी अस्पताल पहुंचने के लिए रास्ते से गुजर रही थी। मगर निजलिंगप्पा ने राष्ट्रपति के काफिले के बजाए एम्बुलेंस को तरजीह दी। वहीं उनके इस काम के लिए उन्हें इनाम देने की घोषणा भी की गई है। बेंगलुरु सिटी पुलिस कमिश्नर प्रवीण सूद ने खुद ट्वीट कर निजलिंगप्पा की तारीफ की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि अपनी ड्यूटी निभाने के लिए उन्हें इनाम मिलना ही चाहिए। डीसीपी ट्रैफिक इस्ट ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से इनाम की घोषणा की है।

देखें वीडियो (Source: Twitter @Ananthaforu)

इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में आप साफ देख सकते हैं कैसे राष्ट्रपति के काफिले के लिए खाली किए जा चुके रास्ते पर एम्बुलेंस चलते-चलते रुक जाती है। तभी निजलिंगप्पा एम्बुलेंस को निकलने का इशारा करते हैं और फिर एम्बुलेंस दाईं से आते हुए राष्ट्रपति के काफिले से पहले निकल जाती है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो पर लोग निजलिंगप्पा की इस काम के लिए काफी सराहना कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on June 20, 2017 1:20 pm

  1. No Comments.
सबरंग