January 18, 2017

ताज़ा खबर

 

सुरक्षा के लिए हाथों में छड़ी लेकर स्कूल जाती हैं यहां की लड़कियां

यहां लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं।

प्यास फाउंडेशन ने लड़कियों को अपने साथ छड़ी लेकर चलने की सलाह दी है।

कर्नाटक के बेलागावी शहर में लड़कियां अपनी सुरक्षा के लिए अपने साथ छड़ी लेकर चलती हैं। इस क्षेत्र में लड़कियों के साथ छेड़छाड की घटनाएं आम हैं। इसलिए लड़कियों ने अपनी सुरक्षा का बेड़ा खुद ही उठा लिया है। यहां काम कर रहे प्यास फाउंडेशन के डायरेक्टर किरण निप्पानिकर ने बताया कि इस क्षेत्र में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ के चार से पांच मामले हर हफ्ते सामने आते हैं। फाउंडेशन के मुताबिक लड़कियों की उम्र कोई मायने नहीं रखती। ये शिकायतें कम उम्र की लड़कियों से लेकर उम्रदराज महिलाओं की है। फाउंडेशन ने बताया कि लड़कियां जब घर पर अपने परिजनों से शिकायत करती हैं तब उनके परिवार के लोग भी उनका साथ नहीं दे पाते।  उनके साथ यहां रोजाना शोषण किया जा रहा है। इसलिए लड़कियों ने खुद ही अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी ले ली है और हाथ में छड़ी लेकर चलती हैं। साथ में छड़ी लेकर चलने का सुझाव प्यास फाउंडेशन का है। इसके अलावा इस फाउंडेशन की तरफ से लड़कियों को क्षेत्र के कई पुलिस अधिकारियों के नंबर भी दिए गए हैं जिससे जरुरत पड़ने पर वो मदद ले सकें।

निप्पानिकर कहते हैं कि ये आदमी मोटरसाइकिल पर आते हैं और छेड़छाड़ करके चले जाते हैं। पिछले 4-5 महीनों में इन मामलों में काफी इजाफा हुआ है। निप्पानिकर ने बताया कि उनके फाउंडेशन के ही एक व्यक्ति की पत्नी के साथ मनचलों ने छेड़छाड़ की थी। प्यास फाउंडेशन के डायरेक्टर किरण निप्पानिकर ने बताया कि उनका संस्थान क्षेत्र में पानी की समस्याओं पर काम करता है। पर क्षेत्र में लड़कियों और महिलाओं के साथ बढ़ते अपराधों के चलते इन लड़कियों की मदद कर रहा है और इनकी सुरक्षा करने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए इसी फाउंडेशन की तरफ से ही लड़कियों को साथ छड़ी लेकर चलने को कहा गया है। फाउंडेशन ने कुछ पुलिस अधिकारियों के नंबर भी इन लड़कियों को मुहय्या कराएं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 10, 2016 10:59 am

सबरंग