March 23, 2017

ताज़ा खबर

 

बेंगलुरु: सीरियल रेपिस्ट का गुनाह नहीं साबित कर पाई पुलिस, जेल से बाहर आने के बाद फिर दो महिलाओं के साथ बलात्कार का आरोप

कर्नाटक पुलिस ने अगस्त 2014 में शिवाराम रेड्डी को गुंडा एक्ट के तहत गिरफ़्तार किया था, लेकिन शिवाराम सबूतों के अभाव में एक साल बाद ही जेल से बाहर निकल गया।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बेंगलुरु पुलिस ने एक सीरियल रेपिस्ट को गिरफ़्तार किया है। पुलिस को शक है कि इसने बेंगलुरु में दो महिलाओं के साथ रेप किया है। पुलिस के मुताबिक शिवारामा रेड्डी (31) नाम का ये आरोपी 2014 में भी बलात्कार के आरोप में जेल जा चुका है, लेकिन 2015 में जेल से रिहा बाहर आ गया था। पुलिस का कहना है कि बेंगलुरु में अकेले रह रही महिलाओं को ये बदमाश शिकार बनाता था । पहले ये उनके साथ रेप की वारदात को अंज़ाम देता फिर उन्हें लूटकर फरार हो जाता था। पिछले सप्ताह 23 साल की एक महिला ने शिकायत की थी कि, ‘2 मार्च को एक व्यक्ति ने चाकू की नोक पर उसके साथ रेप किया था बदमाश ने इस घटना को महिला के हॉस्टल में अंजाम दिया था, इसके तीन दिनों के बाद ही एक दूसरी महिला ने भी पुलिस को शिकायत दी कि एक शख़्स ने उसके हॉस्टल में उसके साथ लूटपाट की और उसके साथ छेड़खानी की।

बेंगलुरु पुलिस ने एनडीटीवी वेबसाइट को बताया कि ये शख़्स पहले तो हॉस्टल और पीजी में रह रही लड़कियों को को लूटता था और अगर वो अकेली रहती थीं तो उनके साथ रेप की घटना को भी अंज़ाम देता था। दोनों पीड़ित महिलाओं ने जब रेप के आरोपी का हुलिया पुलिस को बताया तो पुलिस को शक हुआ हाल ही में जेल से छूटकर गया शिवाराम रेड्डी ही इन घटनाओं को अंजाम दे रहा है। पिछले मंगलवार को पुलिस ने जब इस आरोपी को पकड़ने की कोशिश की तो, पुलिस के मुताबिक,’उसने हमारी टीम पर चाकू से हमला कर दिया और तीन पुलिसकर्मियों को घायल कर दिया।’ बाद में शहर के मराठाहल्ली आउटर रिंग रोड पर पुलिस ने इस शख़्स के पैरों में गोली मारकर इसे वश में किया।

कर्नाटक पुलिस ने अगस्त 2014 में शिवाराम रेड्डी को गुंडा एक्ट के तहत गिरफ़्तार किया था, लेकिन शिवाराम सबूतों के अभाव में एक साल बाद ही जेल से बाहर निकल गया। पुलिस ने तब उसके ख़िलाफ़ रेप, यौन शोषण, महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने के मामलों में 4 केस दर्ज किया था।शिवाराम रेड्डी के केस में पुलिस का काम कितना हल्का था इसका अंदाज़ा खुद पुलिस के काम से पता चलता है। पुलिस का कहना है कि हमने इसके ख़िलाफ़ 16 केस दर्ज किये हैं, लेकिन हैरानी की बात ये है कि अब तक किसी केस में पुलिस इसको सजा नहीं दिला सकी। हालांकि इस बार पुलिस का कहना है कि हमारे पास सबूत है और उसे ज़रुर सज़ा मिलेगी।

दिल्ली अभी भी सुरक्षित नहीं: जनवरी में 140 रेप केस, तो 200 से ज्यादा छेड़छाड़ के मामले दर्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 9, 2017 12:12 pm

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग