December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

कर्नाटक: कांग्रेसी नेता ने कहा- पति की सेक्सुअल जरूरत पूरा करने के लिए दी गई है इस्लाम में बहुविवाह की इजाजत

कांग्रेसी नेता इब्राहिम ने कहा, "मान लीजिए कि पत्नी बीमार हो जाती है, वो पति के साथ सेक्स नहीं कर सकती तो पति को सेक्स वर्कर के पास जाना होगा। इस्लाम कहता है कि आप सेक्स वर्कर के पास नहीं जा सकते। अगर आप चाहते हैं तो फिर से शादी कर लीजिए।"

इब्राहिम कांग्रेस के दक्षिण कन्नड़ क्षेत्र के प्रमुख हैं। (तस्वीर-यूट्यूब वीडियो स्क्रीनग्रैब)

कर्नाटक के स्थानीय कांग्रेसी नेता इब्राहिम कोंदिजल ने बहुविवाह प्रथा का बचाव करते हुए कहा है कि इस्लाम में इसकी इजाजत इसलिए दी गई है ताकि पत्नी के बीमार होने पर पति किसी “वेश्या” के पास न जाए। कांग्रेस के दक्षिण कन्नड़ क्षेत्र के प्रमुख इब्राहिम ने कहा कि पति अपनी सेक्सुअल जरूरत को पूरा कर सके इसलिए इस्लाम में बहुविवाह की इजाजत दी गई है। न्यूज वेबसाइट न्यूज मिनट पर प्रकाशित एक वीडियो में कन्नड़ नेता कहते नज़र आ रहे हैं, “मान लीजिए कि पत्नी बीमार (या माहवारी से) हो जाती है, वो पति के साथ सेक्स नहीं कर सकती तो पति को सेक्स वर्कर के पास जाना होगा। इस्लाम कहता है कि आप सेक्स वर्कर के पास नहीं जा सकते। अगर आप चाहते हैं तो फिर से शादी कर लीजिए।” इब्राहिम गुरुवार (20 अक्टूबर) को पत्रकारों के यूनिफार्म सिविल कोड पर पूछे एक सवाल का जवाब दे रहे थे। इब्राहिम ने पत्रकारों से कहा, “इस्लाम बहुविवाह की इजाजत देता है ताकि शौहर अपनी सेक्सुअल जरूरत पूरी कर सके।”

वीडियो: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस्लाम में तीन तलाक जरूरी नहीं है- 

जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा  कि क्या आप इसको सही समझते हैं? इस पर इब्राहिम ने कहा कि इस्लाम में इसकी इजाजत उन्हें ही दी गई है जो आर्थिक और शारीरिक रूप से बहुविवाह करने में सक्षम हैं। भारत के लॉ कमीशन ने सात अक्टूबर को अपनी वेबसाइट पर यूनिफॉर्म सिविल कोड पर लोगों की राय मांगी है। हालांकि आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने इसका विरोध करते हुए इस बीजेपी नीत सरकार का नाटक बताया।

सुप्रीम कोर्ट में इस समय मुसलमानों में तीन तलाक मुद्दे पर मामले की सुनवाई कर रही है। सर्वोच्च अदालत ने कुछ मुस्लिम महिलाओं की याचिका पर सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार से तीन तलाक पर उसकी पक्ष जानना चाहा। जवाब में सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वो तीन तलाक को लैंगिक समानता और संविधान में दिए गए मौलिक अधिकार के खिलाफ है। केंद्र सरकार ने कहा कि इस्लाम में तीन तलाक अनिवार्य नहीं है। हालांकि आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के पदाधिकारियों समेत कई मुस्लिम नेता इसका विरोध कर रहे हैं। वहीं सलीम खान समेत कई मुस्लिम हस्तियां तीन तलाक का विरोध कर रही हैं।

Read Also: सलीम खान बोले- तीन तलाक कुरान के खिलाफ, सवाल है कि क्‍या मुसलमान इस्‍लाम को मान रहे हैं

देखें कन्नड़ वीडियो जिसमें कांग्रेसी नेता ने दिया विवादित बयान-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 21, 2016 1:47 pm

सबरंग