June 27, 2017

ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: बजरंग दल के सदस्य की हत्या के आरोप में बंद अंडरट्रायल कैदी का मर्डर

कर्नाटक में 28 साल के अंडरट्रायल कैदी का मर्डर हो गया। मुस्तफा कंवूर नाम के उस कैदी पर बजंरग दल के कार्यकर्ता पार्शनाथ पुजारी का 2015 में मर्डर करने का आरोप था।

Author November 12, 2016 09:36 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर किया गया है।

कर्नाटक में 28 साल के अंडरट्रायल कैदी का मर्डर हो गया। मुस्तफा कंवूर नाम के उस कैदी पर बजंरग दल के कार्यकर्ता पार्शनाथ पुजारी का 2015 में मर्डर करने का आरोप था। मुस्तफा का मैसूर जेल में कत्ल किया गया। जिस शख्स पर मुस्तफा को मारने का आरोप है वह भी उसी जेल में अंडरट्रायल कैदी था। जिस शख्स पर मर्डर का आरोप है उसका नाम करण शेट्टी है। कहा जा रहा है कि वह पार्शनाथ पुजारी का दोस्त था। करण पिछले दो साल से मैसूर की जेल में है। उसपर हत्या की कोशिश, उत्पीड़न के कई मामले दर्ज हैं। मुस्तफा को कुछ महीने पहले ही मैसूर जेल लाया गया था। मैसूर सिटी के पुलिस कमिशनर ए सुब्रमण्येश्वरा राव ने कहा, ‘आरोपी करण का कहना है कि उसने मुस्तफा को अपनी किसी निजी दुश्मनी की वजह से मारा। हम लोगों ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।’

वीडियो: मुंबई में RTI कार्यकर्ता और बेंगलुरू में RSS कार्यकर्ता की हत्या; देश में दहशत का माहौल

थाने में मर्डर को लेकर एक केस भी रजिस्टर हो गया है। शिकायत में कहा गया है कि दोनों के बीच पुजारी के मर्डर को लेकर बहस हुई थी जिसके बाद करण ने धारधार चम्मच से मुस्तफा की जान ले ली। मुस्तफा को पास के हॉस्पिटल भी ले जाया गया था। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इंडियन एक्सप्रेस को जानकारी मिली की करण का रिकॉर्ड पहले से ही खराब है। वह पहले मैंललूरू की जेल में था। वहां पर भी वह कैदियों से झगड़ा करता था इसलिए दो साल पहले उसे मैसूर जेल लाया गया था। शेट्टी ने जेल की रसोई से एक चम्मच चुरा रखी थी उसी से उसने मुस्तफा का खून किया।

29 साल का पुजारी फूल का व्यापारी था। पिछले साल 9 अक्टूबर को छह बाइक सवार लोगों ने चाकू मारकर उसकी जान ले ली थी। उस मर्डर का एक चश्मदीद भी था। वामन पुजारी नाम के उस शख्स ने छह दिन बाद ही सुसाइड कर लिया था। कर्नाटक की मैंगलूरू जेल में पिछले साल के नवंबर में भी दो कैदियां की हत्या हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 9:22 am

  1. M
    manoj
    Nov 12, 2016 at 9:41 am
    अब दिग्विजय सिंह नहीं पूछेंगे मुस्लिम ही क्यों मरते हैं जेल में ? कांग्रेस गवर्नमेंट है न ?
    Reply
    सबरंग