ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल पुलिस के चेन्नई पहुंचते ही आखिर कहां खो गए न्यायमूर्ति सी.एस.कर्णन, न्यायधीश का नहीं कोई अता-पता

न्यायालय की अवमानना मामले में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा छह महीने जेल की सजा पाए कलकत्ता उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति सी.एस.कर्णन आखिर गए कहां, यह बुधवार को पहेली बनी रही।
Author चेन्नई | May 11, 2017 02:47 am
न्यायमूर्ति कर्णन ने कहा कि मेरा पक्ष सुने बिना ही मेरा काम मुझसे ले लिया गया।

न्यायालय की अवमानना मामले में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा छह महीने जेल की सजा पाए कलकत्ता उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति सी.एस.कर्णन आखिर गए कहां, यह बुधवार को पहेली बनी रही। पश्चिम बंगाल पुलिस बुधवार को चेन्नई पहुंची। चेन्नई में कुछ सूत्रों ने कहा कि वह राज्य के गेस्ट हाउस से आंध्र प्रदेश के श्रीकालाहस्ती स्थित शिव मंदिर के लिए निकले हैं। लेकिन, यहां से 120 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मंदिर के एक अधिकारी ने टेलीफोन पर कहा कि न्यायाधीश का कोई अता-पता नहीं है।

अधिकारी ने कहा, “वह न तो कल और न ही आज यहां पहुंचे हैं। हमें इस बारे में कोई जानकारी नहीं कि वह कल मंदिर पहुंचेंगे या नहीं। मंदिर के एक अन्य अधिकारी ने इससे पहले कहा था कि न्यायमूर्ति कर्णन बुधवार शाम तक श्रीकालहस्ती पहुंचकर गुरुवार सुबह मंदिर में दर्शन करने वाले हैं। कोलकाता के अपने घर से निकलने के बाद न्यायमूर्ति कर्णन मंगलवार को चेन्नई गेस्ट हाउस पहुंचे। न्यायमूर्ति ने अभी आधिकारिक तौर पर कमरा नहीं छोड़ा है और उनका बिल अभी बकाया है। अधिकारियों ने बताया कि कर्णन के साथ आए दो अन्य वकीलों से भी गेस्ट हाउस में उनके कमरे खाली करने को कहा गया है।

सर्वोच्च न्यायालय ने पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक को तत्काल न्यायमूर्ति कर्णन की गिरफ्तारी के आदेश पर अमल करने के लिए एक टीम गठित करने का आदेश दिया है।
सर्वोच्च न्यायालय ने मीडिया पर भी न्यायमूर्ति कर्णन की किसी भी टिप्पणी को प्रकाशित करने पर रोक लगा दी है। उन्हें भारत के प्रधान न्यायाधीश समेत शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीशों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के मामले में अवमानना का दोषी ठहराया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग