ताज़ा खबर
 

राजगीर में आज से जेडीयू की राष्ट्रीय परिषद की बैठक, नीतीश के पार्टी अध्यक्ष बनने पर लगेगी मुहर

राजगीर के कन्वेंशन हॉल में होनेवाली बैठक में निर्वाचित 171 समेत कुल 200 पदाधिकारी शामिल होंगे। बैठक में चुनाव अधिकारी (रिटर्निंग ऑफिसर) अनिल हेगड़े राष्ट्रीय परिषद व राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के लिए प्रस्ताव पेश करेंगे।
एनडीए में शामिल होने की दशा में 71 में से करीब 20 विधायक नीतीश के खिलाफ जा सकते हैं। पार्टी के 12 सांसदों में से 6 भी इसी तरह की मुखालफत कर सकते हैं।

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) की राष्ट्रीय परिषद की बैठक आज (रविवार) से राजगीर में शुरू हो रही है। इस बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर निर्विरोध निर्वाचन पर औपचारिक मुहर लगेगी। नीतीश ने इस साल अप्रैल में शरद यादव से पार्टी की कमान संभाली थी। इस चुनाव के लिए नीतीश अकेले प्रत्याशी थे और उन्हें सर्वसम्मति से निर्वाचित घोषित किया गया था। दो दिनों की बैठक में पार्टी का राजनीतिक प्रस्ताव पारित होगा। इसके अलावा यूपी विधानसभा के साथ ही अन्य राज्यों के विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर भावी रणनीति पर चर्चा होगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और अन्य सांसद व राष्ट्रीय स्तर के नेता राजगीर पहुंच चुके हैं।

राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद पहली बार राजगीर पहुंचने पर नीतीश कुमार का कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया गया। बैठक के दूसरे दिन झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व झारखंड विकास मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी जेडीयू के खुला अधिवेशन में विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल होंगे। राजगीर के कन्वेंशन हॉल में होनेवाली बैठक में निर्वाचित 171 समेत कुल 200 पदाधिकारी शामिल होंगे। बैठक में चुनाव अधिकारी (रिटर्निंग ऑफिसर) अनिल हेगड़े राष्ट्रीय परिषद व राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के लिए प्रस्ताव पेश करेंगे। राजगीर राजधानी से 100 किमी दूर एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है और यह मुख्यमंत्री के पैतृक स्थल नालंदा जिले में आता है।

वीडियो देखिए: नीतीश ने की नेपाल के पीएम से बात

माना जा रहा है कि राष्ट्रीय परिषद की बैठक में अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जेडीयू का क्या स्टैंड रहेगा, 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर क्या रणनीति होगी, इस पर निर्णय लिया जायेगा। इस खुले अधिवेशन में प्रदेश में शराबबंदी की सफलता और सरकार के सात निश्चयों के क्रियान्वयन पर भी चर्चा की उम्मीद है। इसके साथ ही महंगाई, रोजगार समेत देश के वर्तमान हालात पर भी चर्चा की जायेगी।

Read Also- राजपाट: नीतीश कुमार के दोनों हाथों में आ गए लड्डू

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 16, 2016 1:15 pm

  1. No Comments.
सबरंग