ताज़ा खबर
 

बिहार में बेखौफ बदमाश, जदयू नेता की गोली मारकर हत्या

बिहार में नालंदा जिले के नगरनौसा थाना क्षेत्र में अपराधियों ने जनता दल (युनाइटेड) नेता की गोली मारकर हत्या कर दी।
पुलिस ने प्रथम दृष्टया पुरानी रंजिश की आशंका जताई है।

बिहार में नालंदा जिले के नगरनौसा थाना क्षेत्र में अपराधियों ने जनता दल (युनाइटेड) नेता की गोली मारकर हत्या कर दी। वह प्राथमिक कृषि साख समिति (पैक्स) के अध्यक्ष भी थे। पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि जद (यू) नेता और गोरायपुर पंचायत के पैक्स अध्यक्ष सुबोध प्रसाद सोमवार रात मोटरसाइकिल से अपने एक मित्र के साथ नगरनौसा बाजार से घर लौट रहे थे, तभी बढीहा रोड पर काठी पुल के समीप पहले से घात लगाए अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी।

उन्हें घायल अवस्था में इलाज के लिए पटना ले जाया जा रहा था कि रास्ते में उन्होंने दम तोड़ दिया। पुलिस ने प्रथम दृष्टया पुरानी रंजिश की आशंका जताई है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। सुबोध दूसरी बार पैक्स अध्यक्ष चुने गए थे। सुबोध बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृहजिले नालंदा में पार्टी से काफी दिनों से जुड़े हुए थे। जद (यू) के नगरनौसा प्रखंड अध्यक्ष रह चुके सुबोध वर्तमान समय में पार्टी के जिला कार्यकारिणी समिति के सदस्य थे।

गोरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले ही बिहार की राजधानी पटना जिले के बाढ़ कोर्ट में दिनदहाड़े कैदियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग में एक कैदी की मौत हो गई, जबकि तीन घायल हो गए थे। इस पर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर नीतीश सरकार पर तंज कसा था। उन्होंने लिखा था, “पटना के बाढ़ कोर्ट में कैदियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग, 1 कैदी की दर्दनाक हत्या, फायरिंग में कई कैदी घायल। BJP का जंगलराज है इसलिए बहस नहीं।”

बता दें कि तेजस्वी के इस ट्वीट पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। कुछ लोगों ने उनकी बात का समर्थन भी किया। इस पर एक यूजर ने प्रतिक्रिया दी थी, “आप सत्ता में आये थे की engineers की हत्या होने लगी थी, इस बारे में आज तक आपका एक भी tweet नहीं आया, क्यूं?”

एक अन्य यूजर ने लिखा था, “जब तुम्हरे अब्बा ने तुम्हारी बहन के आशिक को दशम बांध पर मरवाया था, तब किसका राज था भाई ?” इस पर दूसरे यूजर ने मोदी भक्त कहकर उसके बारे में लिखा, “बीजेपी एक ऐसी पार्टी है जिसके समर्थकों को भक्त कहते हैं बाकी पार्टियों के समर्थकों को चमचा चाटू दलाल आदि शब्दों से संबोधित किया जाता है।” कहना ना होगा कि बिहार में हत्याओं का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा और बदमाश बेखौफ हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. राजेश रंजन
    Sep 12, 2017 at 9:38 pm
    पत्रकारिता का नंगा नाच मत करिये। ट्वीटर पर यूजर अगर गाली लिखेगा तो आप गाली ज्यों का त्यों खबर में लिखेंगे ? शर्म आनी चाहिए ,आपलोग जनसत्ता का नाम खराब कर रहे हैं।
    (0)(0)
    Reply