ताज़ा खबर
 

आतंकियों ने कश्मीर में तैनात सीनियर पुलिस ऑफीसर के घर में लगाई आग, परिजनों के साथ की मारपीट

आतंकवाद के खिलाफ एक अभियान में खलल डालने की कोशिश कर रहे पत्थरबाजों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प के बाद मंगलवार देर रात करीब 11.30 आतंकवादियों ने आतंकरोधी अभियानों में सक्रिय भूमिका निभा रहे पुलिसकर्मियों और अधिकारियों के परिजनों को निशाना बनाया।
Author नई दिल्ली | March 29, 2017 13:19 pm
पुलिस ऑफीरस के घर में आतकियों ने लगाई आग (फोटो- AFP)

आतंकवाद के खिलाफ एक अभियान में खलल डालने की कोशिश कर रहे पत्थरबाजों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प के बाद मंगलवार देर रात करीब 11.30 आतंकवादियों ने आतंकरोधी अभियानों में सक्रिय भूमिका निभा रहे सीनियर पुलिस ऑफीसर्स एसपी हजरतबल दाऊद अयूब के दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में स्थित घर जाकर तोड़-फोड़ की और बाद में घर को आग के हवाले कर दिया। आतंकियों ने न सिर्फ पुलिस वालों के परिजनों के साथ मारपीट की बल्कि घर में रखी वस्तुओं के साथ तोड़-फोड़ भी की और आग से जलाया। इसके बाद हवा में गोलियां चलाने के बाद वहां से चले गए। आपको बता दें कि तीन दिनों में तीसरी बड़ी घटना में दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकवादियों ने एक पुलिस अधिकारी के निवास पर गोलीबारी की, जिसमें कोई घायल नहीं हुआ है। गौरतलब है कि सोमवार देर रात को भी पुलिसकर्मी और उनके घर वाले आतंकवादियों का शिकार हुए थे। बताया जा रहा है एक दिन में ही कश्मीर में इसी तरह के हादसों में करीब 63 जवान घायल हो गए हैं। वहीं झड़प के दौरान तीन युवक मारे गए, जबकि 18 अन्य नागरिक घायल हो गए।  वहीं, आतंकवाद रोधी अभियान कश्मीर के बडगाम जिले में एक आतंकवादी को मार गिराये जाने के साथ खत्म हुआ। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने नागरिकों की मौत को बहुत ही दुखद बताया है। उन्होंने सभी पक्षों से संयम की अपील की जबकि विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि यह घटना घाटी में चिंताजनक स्थिति की झलक है। कश्मीर में अलगाववादियों ने तीन नागरिकों की मौत के खिलाफ कल आम हड़ताल बुलायी है और इस घटना की निष्पक्ष जांच की मांग की है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद चदूरा क्षेत्र के दरबाग इलाके को तड़के घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया।

अधिकारी ने बताया कि तलाशी अभियान के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ जब चल रही थी तभी कई लोग वहां पहुंच गए और वे पथराव करने लगे। इस पर उनकी सुरक्षाकर्मियों के साथ झड़प होने लगी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों के साथ झड़प में में तीन नागरिकों की मौत हो गयी और 18 अन्य लोग घायल हो गये। मारे गये नागरिकों में सभी युवा हैं और सबकी उम्र 20 वर्ष के आसपास है। उनकी पहचान जाहिद डार, सादिक अहमद और इशफाक अहमद वानी के रूप में हुई है। उन्हें गोलिया लगी थी। इस बीच मुठभेड़ जारी रही और शाम तक एक आतंकवादी मारा गया। सेना एक अधिकारी ने बताया, ‘‘एक आतंकी मारा गया और मुठभेड़ स्थल के पास से एक हथियार बरामद किया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में अर्धसैनिक बल का एक जवान घायल हो गया। महबूबा ने कहा, ‘‘युवाओं के अपनी जान गंवाते देखना बड़ा पीड़ादायक है।

उत्तर प्रदेश के बाद 4 और राज्यों में बंद हुए अवैध बूचड़खाने और मीट की दुकानें

जम्मू-कश्मीर: पीडीपी नेता और मंत्री फारुख अंद्राबी के घर पर आतंकी हमला, सुरक्षाकर्मी घायल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.