ताज़ा खबर
 

कश्मीर घाटी में फिर जनजीवन पर असर, 130 दिन से चल रहा है सिलसिला

फिलहाल कश्मीर घाटी में वार्षिक बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं और अशांति की वजह से स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में पढ़ाई प्रभावित हुई है।
Author श्रीनगर | November 16, 2016 14:38 pm
शनिवार (13 अगस्त) को श्रीनगर में कर्फ्यू के दौरान तैनात सेना का एक जवान। (पीटीआई फाइल फोटो)

जुलाई में सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से बुधवार (16 नवंबर) को लगातार 131वें दिन कश्मीर घाटी में सामान्य जनजीवन प्रभावित रहा। अधिकारियों ने बताया कि अलगाववादियों की हड़ताल की वजह से श्रीनगर और घाटी के अन्य जिला मुख्यालयों में अधिकतर दुकानें, पेट्रोल पंप और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे। हालांकि, अलगाववादियों ने शाम को चार बजे के बाद से हड़ताल में 15 घंटे की ढील दने की घोषणा की है इसलिए शाम को इन दुकानों के खुलने की संभावना है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में वार्षिक बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं और अशांति की वजह से स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में पढ़ाई प्रभावित हुई है।

घाटी में अधिकतर सार्वजनिक परिवहन वाहन सड़कों से गायब रहे। अधिकारियों ने बताया कि हालांकि, सिविल लाइन और शहर के बाहरी हिस्से के कुछ इलाकों के साथ-साथ घाटी के कुछ अन्य शहरों में कुछ यात्री वाहनों को सड़कों पर चलते हुए देखा गया। उन्होंने बताया कि इन इलाकों में कुछ दुकानें भी खुली थीं और कुछ अंतर-जिला कैब भी सड़कों पर चलते हुये देखी गई। टीआरसी चौक-बटमालू के पास कुछ स्टॉल लगे हुए थे और पूरे घाटी में बैंक खुले थे और वहां लोगों की भीड़ भी देखी गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग