January 21, 2017

ताज़ा खबर

 

कश्मीर में तनाव के 100 दिन पूरे, घाटी से कर्फ्यू हटा

अब तक इस तनाव में 84 लोग मारे जा चुके हैं और हजारों लोग घायल हो चुके हैं। मारे गए लोगों में दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।

Author श्रीनगर | October 16, 2016 16:01 pm
कश्‍मीर घाटी में आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से तनाव है। (Photo Source: PTI)

सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से कश्मीर में चल रहे तनाव को रविवार (16 अक्टूबर) को 100 दिन पूरे हो गए हैं। हालांकि स्थिति में सुधार को देखते हुए घाटी से कर्फ्यू हटाया भी गया है। यह तनाव दक्षिण कश्मीर में आठ जुलाई को हुई मुठभेड़ में बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से शुरू हुआ था। अब तक इस तनाव में 84 लोग मारे जा चुके हैं और हजारों लोग घायल हो चुके हैं। मारे गए लोगों में दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। मौजूदा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे अलगाववादियों की ओर से बुलाई गई हड़ताल के चलते घाटी में पिछले 100 दिन से बंद की स्थिति है। हालांकि बीच-बीच में कुछ अवधि के लिए राहत दी जाती है।

इस हड़ताल के कारण घाटी में सामान्य जनजीवन बाधित हो गया है क्योंकि छूट की अवधि से इतर दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान और पेट्रोल पंप लगातार बंद रहे हैं। इस बंद के कारण छात्रों की पढ़ाई पर असर पड़ा है क्योंकि घाटी में स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान बंद हैं। प्रशासन ने भी इन 100 दिनों में से अधिकतर दिनों पर कर्फ्यू और प्रतिबंध लगाए हैं, जिससे घाटी का सामान्य जनजीवन पटरी से उतर गया है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि कश्मीर में आज कर्फ्यू तो कहीं नहीं है लेकिन कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए ऐहतिहाती उपाय करते हुए आपराधिक दंड संहिता की धारा 144 के तहत लोगों के एक स्थान पर एकत्र होने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। उन्होंने कहा कि स्थिति में सुधार आ रहा है क्योंकि लोग हुर्रियत के बुलाए बंद को नकार रहे हैं और अपने दैनिक कार्यों के लिए बाहर आ रहे हैं।

अधिकारी ने कहा कि सिविल लाइंस और शहर के बाहरी इलाके में कई दुकानें खुलीं। उन्होंने कहा कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए और लोगों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिए संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। अधिकारियों ने स्थिति में सुधार को देखते हुए तीन माह बाद शुक्रवार रात को प्रीपेड मोबाइल फोन से कॉल करने की सुविधा बहाल कर दी। हालांकि पूरे कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं अब भी निलंबित हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 16, 2016 4:01 pm

सबरंग