ताज़ा खबर
 

अमरनाथ यात्रियों और मुस्लिमों में भिड़ंत के बाद पूंछ में तनाव

कश्मीर के पुंछ इलाके में बूढ़ा अमरनाथ और वहां के गांववालों के बीच हिंसक झड़प हुई। कुछ तीर्थयात्रियों ने बाजार में जाकर 'भारत में रहना होगा, वंदे मातरम कहना होगा', 'भारत में रहना होगा, राम राम कहना होगा' के नारे लगाए थे।
कश्मीर के पुंछ इलाके में बूढ़ा अमरनाथ और वहां के गांववालों के बीच हिंसक झड़प हो गई।

कश्मीर के पुंछ इलाके में बूढ़ा अमरनाथ और वहां के गांववालों के बीच मंगलवार (16 अगस्त) को हिंसक झड़प हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक, पहले बूढ़ा अमरनाथ जा रहे तीर्थयात्रियों ने कुछ भड़काऊ नारे लगाए। उन्हें सुनकर वहां रहने वाले कुछ मुसलमान लोग भड़क गए और उन्होंने भी भड़काऊ नारे लगा दिए। इसपर दोनों समुदायों के बीच लड़ाई होने लगी। तीन दिन पहले बूढ़ा अमरनाथ की यात्रा पर जा रहे तीर्थयात्रियों की बस हम ग्रेनेड से हमला भी किया गया था। इसमें 15 लोग जख्मी हो गए थे। ताजा झड़प पुंछ के मंडी इलाके में हुई है। वहीं के बस स्टैंड पर ग्रेनेड फेंका गया था।

पहले सब शांत थे: पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, पहले वहां माहौल शांत था। बूढ़ा अमरनाथ पहुंचे तीर्थयात्रियों की वहां रहने वाले मुसलमानों ने अच्छे से खातिर भी की थी। लेकिन फिर कुछ तीर्थयात्रियों ने बाजार में जाकर ‘भारत में रहना होगा, वंदे मातरम कहना होगा’, ‘भारत में रहना होगा, राम राम कहना होगा’ के नारे लगा दिए। इसपर वहां के लोगों को गुस्सा आ गया। कुछ बुजुर्ग लोगों ने नारा लगा रहे लोगों को समझाने की कोशिश भी की थी लेकिन वे नहीं माने। इसके बाद वहां के कुछ मुसलमानों ने भी ‘आजादी’ के नारे लगाने शुरू कर दिए। इसके बाद स्थिति बिगड़ती देख किसी ने पुलिस को सूचना दी। फिर पुलिस ने आकर मामले को शांत करवाया।

पुलिस से भी हाथापाई: जब पुलिस ने वहां पहुंचकर स्थिति को काबू में करने की कोशिश की तब वहां के लोकल लोगों ने पुलिस पर भी हमला कर दिया था। उन लोगों का आरोप था कि पुलिस ने उनके एक लड़के को थप्पड़ मारा था।

Read Also: कश्मीर: बूढ़ा अमरनाथ जा रहे तीर्थयात्रियों की बस पर हमला, 15 लोग जख्मी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    adi khan
    Aug 17, 2016 at 6:27 am
    भारत एक अघोषित हिन्दू राष्ट्र है मुसलमानो की अकल में इतनी सी बात नहीं आती है जब इनको रोज़ जूते मारे जायेंगे जिसकी शुरुवात हो चुकी है जैसे दलितों को मारे जाते है तब शायद कुछ असलियत से पाला पड़ेगा . भारत है मुसलमान गलाज़त की हद्द तक कायर हो गया है
    Reply
सबरंग