ताज़ा खबर
 

सेना ने घुसपैठ की दो कोशिशें कीं नाकाम, मार गिराए दस आतंकी, एक जवान भी शहीद

दिल्ली में सेना के सूत्रों ने बताया कि उड़ी सेक्टर में सेना के साथ मुठभेड़ में 10 आतंकवादी मारे गए।
Author उड़ी | September 21, 2016 01:36 am
उरी में तैनात भारतीय सेना का जवान। (Photo- PTI/File)

उड़ी में आतंकी हमले के महज दो दिन बाद मंगलवार को कश्मीर में सीमा पार से घुसपैठ की दो कोशिशें नाकाम करते हुए सेना ने 10 आतंकवादियों को ढेर कर दिया। इस दौरान एक जवान की भी मौत हो गई। उधर पाकिस्तान के सैनिकों ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया और भारतीय चौकियों पर गोलीबारी की। रविवार को सीमा पार से हुए आतंकी हमले का जवाब देने के लिए सरकार कई विकल्पों पर विचार कर रही है। हमले में 18 जवान मारे गए थे। इस संबंध में सोमवार को सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (सीसीएस) की महत्त्वपूर्ण बैठक बुलाई गई है।

श्रीनगर में सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि उड़ी और नौगाम सेक्टरों में मंगलवार को नियंत्रण रेखा से घुसपैठ की आतंकवादियों की दो कोशिशों को नाकाम कर दिया गया। दोनों ही जगहों पर अभियान जारी है। प्रवक्ता ने अभी तक चलाए गए अभियानों में मारे गए आतंकवादियों की संख्या पर टिप्पणी करने से मना कर दिया और कहा कि उचित समय पर जानकारी सार्वजनिक की जाएगी। उन्होंने बताया कि नौगाम क्षेत्र में अभियान में एक जवान शहीद हो गया। दिल्ली में सेना के सूत्रों ने बताया कि उड़ी सेक्टर में सेना के साथ मुठभेड़ में 10 आतंकवादी मारे गए। अभी तक उनके शव बरामद नहीं हुए हैं। सूत्रों ने कहा कि 15 आतंकवादियों के एक समूह ने एलओसी के रास्ते भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश की थी।
संघर्षविराम उल्लंघन की घटना पर श्रीनगर में सेना के एक अधिकारी ने कहा कि एलओसी पर दोपहर 1:10 से 1:30 बजे के बीच गोलीबारी हुई। इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ। अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी जवानों ने बिना उकसावे के दोपहर बाद उड़ी सेक्टर में भारतीय चौकियों की ओर छोटे हथियारों से गोलीबारी की।दो दिन पहले ही जैश-ए-मोहम्मद के चार पाकिस्तानी आतंकवादियों ने उड़ी सेक्टर में सेना के एक बेस पर हमला कर 18 जवानों की जान ले ली और कई को घायल कर दिया था। इस आतंकी हमले ने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ा दिया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.