May 26, 2017

ताज़ा खबर

 

कश्‍मीर में एसएसबी पेट्रोल पार्टी पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद, आठ घायल

जम्‍मू कश्‍मीर के जाकुरा में सीमा एसएसबी की पेट्रोलिंग टीम पर आतंकी हमला हुआ है। इस हमले में एसएसबी के सात जवान घायल हो गए।

Author श्रीनगर | October 15, 2016 08:54 am
जम्‍मू कश्‍मीर के जाकुरा में एसएसबी की पेट्रोलिंग टीम पर आतंकी हमला हुआ है। (Photo:ANI)

जम्‍मू कश्‍मीर के जाकुरा में स शस्‍त्र सीमा बल (एसएसबी) की पेट्रोलिंग टीम पर आतंकी हमला हुआ है। इस हमले में एसएसबी का एक जवान शहीद हो गया जबकि छह जवान घायल हो गए। पेट्रोलिंग टीम ड्यूटी के बाद वापस लौट रही थी। हमले के बाद सर्च ऑपरेशन चल रहा है। जानकारी के अनुसार एसएसबी पेट्रोल पार्टी की तीन कंपनियां छह गाडि़यों में वापस लौट रही थीं। आईजी एसएसबी दीपक कुमार ने बताया कि हमला श्रीनगर के बाहरी हिस्‍से में हुआ। शाम को साढ़े सात बजे के करीब तीन पेट्रोल पार्टी वापस लौट रही थीं। इसी दौरान आतंकियों ने एक वाहन पर फायरिंग की। जवानों ने जवाबी फायरिंग की लेकिन आबादी वाला इलाका होने के कारण अंधाधुंध तरीके से फायरिंग नहीं कर सके। एक जवान शहीद हो गया जबकि आठ घायल हो गए। आठ घायल जवानों में से 3-4 की हालत नाजुक है। घटना के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को खाली करा दिया।

15 अगस्‍त को नौहट्टा में मुठभेड़ के बाद श्रीनगर में यह पहला आतंकी हमला है। उस हमले में सीआरपीएफ कमांडेंट शहीद हो गया था जबकि नौ अन्‍य जवान घायल हुए थे।दो दिन पहले श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित पंपोर की एक सरकारी इमारत में छिपे आतंकियों को सुरक्षा बलों ने 56 घंटे तक चले अभियान के बाद को मार गिराया था।

Speed News: जानिए देश और दुनिया की पांच बड़ी खबरें:

आतंकी ईडीआई परिसर में छिपे हुए थे। सुरक्षा बलों ने अभियान को समाप्त करने से पहले इमारत के सभी 50 कमरों की तलाशी ली। सुरक्षा बलों ने दो आतंकवादियों के शव बरामद कर लिए हैं। इसमें एक आतंकी बुधवार शाम मारा गया जबकि दूसरा मंगलवार को ही ढेर कर दिया गया था। मारे गए आतंकवादियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। पहली नजर में लगता है कि ये आतंकवादी लश्कर-ए-तैयबा के हो सकते हैं। सुरक्षा बलों ने ईडीआइ इमारत को सोमवार से घेर रखा था जिसमें उस दिन आतंकवादी छिप गए थे।

आतंकी मसूद अजहर ने पाक सरकार को ललकारा, कहा- हिम्मत दिखाओ, भारत के खिलाफ जिहाद की राह खोल दो

56 घंटे से अधिक समय तक चले अभियान में यह बहुमंजिली इमारत खंडहर में तब्दील हो गई है क्योंकि इसकी ज्यादातर दीवारें गिर चुकी हैं। अधिकारी ने कहा कि सेना के एलीट पारा कमांडो को भी आतंकियों को मार गिराने के लिए बुलाया गया था। सेना ने कुपवाड़ा जिले में सीमापार से आतंकवादियों के घुसपैठ का प्रयास भी नाकाम किया।

भारत की सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद पाक सेना से नाराज हुए लश्‍कर के आतंकी, हाफिज सईद ने भी बदला ठिकाना

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 8:35 pm

  1. V
    Virendra Sason
    Oct 14, 2016 at 4:49 pm
    सावधानी हटी,दुर्धटना घटी। रणभूमि को रंगभूमि समझने की भूल का परिणाम भयानक होता है। नेता सावधान रहे। देश को सर्वोच्च समझे। राजनीती न हो तो उत्तम होगा।
    Reply

    सबरंग