ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: नमाज पढ़कर लौट रहे शख्‍स को चोटी-कटवा समझकर मारे पत्‍थर, मौत

जम्मू-कश्मीर में एक शख्स ने बुजुर्ग को कथित तौर पर चोटी-कटवा समझकर पत्थर मार हत्या कर दी। मृतक शख्स की पहचान अब्दुल सलाम वानी (70) के रूप में की गई है।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर में एक शख्स ने बुजुर्ग को कथित तौर पर चोटी-कटवा समझकर पत्थर मार हत्या कर दी। मृतक शख्स की पहचान अब्दुल सलाम वानी (70) के रूप में की गई है। घटना के वक्त वानी मस्जिद से इशा की नमाज (रात में होने वाली नमाज) पढ़ घर लौट रहे थे। मामले में पुलिस का कहना है कि उन्हें ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं है। पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘अभी तक हमें कोई शिकायत या घटना को लेकर कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।’ वहीं स्थानीय निवासियों ने बताया कि हमले के बाद वानी जमीन पर गिर गए थे। हालंकि उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। पूछने पर कि हमले की पुलिस में शिकायत क्यों नहीं की गई, तो एक स्थानीय निवासी ने बताया कि ये एक घटना थी। घाटी में महिलाएं चोटी कटने की शिकायत लगातार कर रहीं थीं। महिलाओं का आरोप है कि अज्ञात शख्स उनकी चोटी काट रहे हैं। जिससे बुजुर्ग को चोटी-कटवा समझ शख्स ने उनपर हमला कर दिया।

पुलिस ने बताया कि इससे पहले महिला ड्रेस पहने एक ट्रांसजेंडर को भीड़ ने चोटी-कटवा समझ बहुत पीटा। बाद में पुलिस की मदद से पीड़िता ट्रांसजेंडर को बचाया जा सका। ऐसी ही एक अन्य घटना में शहर के निशत इलाके में भीड़ ने चोटी-कटवा समझकर दो लोगों को बुरी तरह से घायल कर दिया था। इन्हें भी पुलिस द्वारा बचाया गया। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार पुलिस ने एक दल का गठन कर ऐसी घटनाओं को रोकने का निर्णय लिया है। घाटी में डर कि वजह से इस तरह की घटनाएं लगातार देखने को मिल रही हैं। इसी सप्ताह बारामूला जिले में एक युवक को चोटी-कटवा समझ भीड़ ने बुरी तरह पीटा था। रिपोर्ट के अनुसार शख्स वहां अपने दोस्त से मिलने गया था। इसी तरह के ही अन्य मामले में दो महिलाओं को विवाह के मौके पर चोटी-कटवा समझकर पीटा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग