ताज़ा खबर
 

जम्‍मू कश्‍मीर: प्रेगनेंट महिला को ले जा रही एंबुलेंस बर्फबारी में सड़क पर फंसी, सेना के जवानों ने बचाई जान

जम्‍मू कश्‍मीर में सेना के जवानों ने बाढ़ और हिमस्‍खलन के चलते फंसी एंबुलेंस को निकालकर एक गर्भवती महिला की जान बचाई।
Author नई दिल्‍ली | April 7, 2017 17:35 pm
जम्‍मू कश्‍मीर में सेना के जवानों ने बाढ़ और हिमस्‍खलन के चलते फंसी एंबुलेंस को निकालकर एक गर्भवती महिला की जान बचाई।

जम्‍मू कश्‍मीर में सेना के जवानों ने बाढ़ और हिमस्‍खलन के चलते फंसी एंबुलेंस को निकालकर एक गर्भवती महिला की जान बचाई। यह घटना गुरुवार रात की बताई जा रही है। हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार बांदीपुर के रहने वाले अब्‍दुल अहद खान अपनी गर्भवती पत्‍नी को एंबूलेंस से श्रीनगर अस्‍पताल ले जा रहे थे। इसी दौरान हाईवे पर एंबुलेंस खराब हो गई और वहीं फंस गई। वे लगभग दो घंटे तक वहीं फंसे रहे। एंबुलेंस के ड्राइवर ने ऐसे मौके पर गाड़ी का साइरन शुरू कर दिया। इससे पास ही खड़े राष्‍ट्रीय राइफल्‍स के जवानों ने एंबुलेंस को शुरू करने के लिए धक्‍का लगाना शुरू कर दिया। रिपोर्ट के अनुसार लगभग 500 मीटर तक जवानों के धक्‍का लगाने के बाद एंबुलेंस स्‍टार्ट हो गई। उन्‍होंने साथ ही बताया कि हाईवे के बजाय दूसरा रास्‍ता लेने में समझदारी होगी।

खान ने बाद में कंपनी कमांडर एसके बाला को फोन कर जवानों की मदद के लिए शुक्रिया कहा। साथ ही बताया कि उनकी बीवी ने लाल डेड अस्‍पताल में बच्‍चे को जन्‍म दिया है। अब्‍दुल अहद खान ने हिंदुस्‍तान टाइम्‍स को बताया, ”यदि सेना के जवान मदद को नहीं आते तो कुछ भी हो सकता था। मेरी पत्‍नी और बच्‍चा उनके कारण की जिंदा है। हम जवानों और उनके परिवार वालों की सलामती की दुआ करेंगे।”

बता दें किे जम्‍मू कश्‍मीर में बाढ़ के चलते हालात विकट हैं। इसके चलते तीन लोगों की जान जा चुकी है। झेलम नदी का स्‍तर खतरे के निशान से ऊपर चल रहा है। साथ ही बर्फबारी और हिमस्‍खलन से दोहरी मार पड़ी है। बटालिक सेक्‍टर में एवलांच के चलते सेना के दो जवानों की मौत हो गई। वहीं कुछ जवान फंसे हुए भी हैं। उन्‍हें निकालने का प्रयास किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्‍य की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की है। उन्‍होंने केंद्र सरकार की ओर से हरसंभव मदद का आश्‍वासन दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.