ताज़ा खबर
 

अस्पताल अग्निकांड के सभी दोषियों को दंडित किया जाना चाहिए: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा

सम अस्पताल में भयावह अग्निकांड में 21 लोगों की मौत हो गई थी।
Author भुवनेश्वर | October 19, 2016 16:31 pm
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा (पीटीआई फाइल फोटो)

भुवनेश्वर के सम अस्पताल में भयावह अग्निकांड में 21 लोगों की मौत होने के बाद अस्पताल में अग्नि सुरक्षा के उपायों में गंभीर खामियों की पहचान करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने आज कहा कि घटना के लिए जिम्मेदार सभी लोगों को दंडित किया जाना चाहिए। नड्डा ने यहां अग्निकांड का शिकार हुए निजी अस्पताल का दौरा करने के बाद कहा, ‘‘यह दुखद है और बहुत बहुत स्तब्ध करने वाला और चिंताजनक भी। मैंने देखा कि वहां कुछ सुरक्षा संबंधी विषयों पर ध्यान देने की जरूरत है।’’

केंद्रीय मंत्री ने राज्य सरकार से जरूरी कदम उठाने को कहा। उन्होंने कहा, ‘‘लोगों का विश्वास बहाल होना चाहिए और उसके अनुसार जिम्मेदार लोगों को सजा मिलनी चाहिए। प्रोटोकॉल और दिशानिर्देशों को भी बनाये रखा जाना चाहिए।’’ मंत्री ने एम्स, कैपिटल अस्पताल, एएमआरआई अस्पताल और केआईएमएस जाकर वहां सोमवार रात से उपचार करा रहे रोगियों का हालचाल पूछा।  मामले में स्वास्थ्य अधिकारियों से भी बात करने वाले नड्डा ने सम अस्पताल अग्निकांड में प्रभावित रोगियों के उपचार के लिए ओडिशा सरकार के प्रति पूरा सहयोग जताया।

भुवनेश्वर: सम अस्पताल की मान्यता दो महीने पहले कर दी गई थी रद्द; 2013 में रिन्यू नहीं करवाया था फायर NoC। देखें वीडियो

नड्डा ने कहा, ‘‘मैं यहां आरोप-प्रत्यारोप के लिए नहीं आया हूं। हमारी प्राथमिकता रोगियों का उचित उपचार कराना है जो दो दिन पहले अस्पताल में आग की घटना में घायल हो गये।’’ उन्होंने कहा कि आग की घटना में झुलस गये रोगियों के बेहतर उपचार के लिए कें्रद सरकार कदम उठाएगी। राज्य सरकार ने अग्निकांड में जांच के लिए समितियों का गठन किया है। नड्डा ने कहा कि राज्य सरकार को अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा उपायों को अपनाना चाहिए।भुवनेश्वर दौरे पर स्वास्थ्य मंत्री के साथ केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्में्रद प्रधान भी थे। इससे पहले  मुख्यमंत्री नवीन पटनायक मरीजों का हालचाल जानने एम्स और एएमआरआई अस्पताल पहुंचे। इन मरीजों को सम अस्पताल में आगजनी के बाद इलाज के लिए यहां लाया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग