December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

JNU के लापता छात्र नजीब अहमद को ढूंढ़ने के लिए भटक रही दिल्ली पुलिस, मोबाइल की वजह से हो रही है परेशानी

दिल्ली पुलिस के अधिकारी पिछले 24 घंटे से जोनल इंटीग्रेटेड पुलिस नेटवर्क पर भी नजर बनाए हुए हैं। इसके लिए अधिकारी वसंतकुंज नॉर्थ पुलिस स्टेशन में कम्प्यूटर और इंटरनेट के साथ तैयार बैठे हैं।

Author October 27, 2016 21:06 pm
अपने साथी छात्र नजीब के लिए न्याय मांगते जेएनयू के छात्र (फोटो-PTI)

जेएनयू के छात्र नजीब अहमद को लापता हुए 13 दिन हो गए लेकिन अभी तक दिल्ली पुलिस के हाथ कोई ठोस सुराग नहीं लगा है। पुलिस की 8 टीमें 26 वर्षीय नजीब को तलाशने में जुटी है। इसके अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह के आदेश पर दिल्ली पुलिस ने एक एसटीएफ का भी गठन किया है बावजूद इसके अभी तक कुछ हाथ नहीं लग सका है। दिल्ली पुलिस ने अब तक यूनिवर्सिटी स्टाफ और छात्रों समेत करीब 100 से ज्यादा लोगों से इस बारे में पूछताछ की है। दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि नजीब की तफ्तीश के लिए पुलिस की कई टीम राजस्थान के अजमेर शरीफ, उसके गृह जिले उत्तर प्रदेश के बदायूं और बरेली में कैम्प कर रही है, जहां से उसने कॉलेज की पढ़ाई की थी। पुलिस अधिकारी के मुताबिक नजीब को सिर्फ मानवीय सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर ही ढूंढ़ने की कोशिश हो रही है क्योंकि उसने अपना मोबाइल हॉस्टल में ही छोड़ दिया था।

दिल्ली पुलिस के अधिकारी पिछले 24 घंटे से जोनल इंटीग्रेटेड पुलिस नेटवर्क पर भी नजर बनाए हुए हैं। इसके लिए अधिकारी वसंतकुंज नॉर्थ पुलिस स्टेशन में कम्प्यूटर और इंटरनेट के साथ तैयार बैठे हैं ताकि किसी तरह की लापता व्यक्ति या लाश की सूचना मिलने पर त्वरित कार्रवाई की जा सके। पुलिस की दूसरी टीन लगातार उसके फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट पर नजर बनाए हुए है। ताकि वो कहीं से भी कोई सूचना दे तो पुलिस उसे तुरंत सहायता पहुंचा सके और उस तक पहुंच सके।

गौरतलब है कि 15 अक्टूबर की रात जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों के साथ झड़प होने के बाद से नजीब अहमद लापता है। सूत्र बताते हैं कि उसने साथी छात्रों से कहा था कि वो सो नहीं पा रहा है। इसके बाद उसने अपनी मां से बात की थी। उसने झगड़े के बारे में अपनी मां को बताया था। उसकी मां ने नजीब के रूममेट को दवा देने को कहा था। उसकी मां ने कहा था कि वो अगले दिन वहां पहुंच जाएगी। पुलिस को उसकी मां ने बताया है कि जब वो आनंद विहार रेलवे स्टेशन पहुंची तब तक नजीब ठीक था लेकिन जब वो उसके हॉस्टल पहुंची तो वो वहां नहीं था। जब नजीब शाम तक नहीं पहुंचा तो उसकी मां ने शाम में वसंतकुंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

वीडियो देखिए- जेएनयू छात्रों ने कुलपति को बंधक बनाया

Read Also-जेएनयू लापता छात्र का पता लगाने के लिए SIT गठित करने का आदेश, 22 घंटे बाद मुक्त हुए कुलपति

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 9:06 pm

सबरंग