ताज़ा खबर
 

ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो हो जाइए सावधान, आयकर विभाग थमा सकता है नोटिस

आईएएस अफसर की पत्नी ने ऑनलाइन 10 लाख रुपये की खरीददारी कर ली। फिर क्या था आपके हर ट्रांजैक्शन पर नजर रखनेवाले इनकम टैक्स के अफसरों ने उन्हें नोटिस भेज दिया।
ऑनलाइन शॉपिंग का बढ़ता कारोबार (प्रतीकात्मक चित्र)

अगर आप भी ऑनलाइन शॉपिंग के शौकीन हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि इनकम टैक्स के अफसर कभी भी आपको नोटिस थमा सकते हैं। आपसे आपकी खरीददारी पर पूछताछ कर सकते हैं। जी हां, कुछ ऐसा ही हुआ है मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में जहां एक आईएएस अफसर की पत्नी ने ऑनलाइन 10 लाख रुपये की खरीददारी कर ली। फिर क्या था आपके हर ट्रांजैक्शन पर नजर रखनेवाले इनकम टैक्स के अफसरों ने उन्हें नोटिस भेज दिया। अब आईएएस अफसर के करीबी लोग मैडम को मानसिक तौर पर बीमार बता रहे हैं। कहा जा रहा है कि आईएएस अफसर की पत्नी कम्पलसिव बाइंग डिसॉर्डर से पीड़ित हैं। इसमें रोगी को खरीददारी का जुनून सवार रहता है।

आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया कि आप जब भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो वह एक प्रकार से इलेक्ट्रॉनिक फॉर्मेट में रिकॉर्ड हो जाता है जिसे इनकम टैक्स डिपार्टमेन्ट समय-समय पर खंगालता रहता है। इसके लिए आईटी डिपार्टमेन्ट के लोग एक स्मार्ट सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं। यह सॉफ्टवेयर व्यक्तिगत खरीददारी की मैपिंग करता है। सूत्रों ने बताया कि आपके द्वारा खर्च की गई राशि का मिलान आपके द्वारा भरे गए आयकर विवरणी से किया जाता है। अगर इसमें कुछ भी संदेह होता है तो आयकर विभाग के अधिकारी नोटिस जारी करते हैं और आयकर चोरों को पकड़ लेते हैं। इस मामले में आईएएस अफसर की पत्नी ने भी अभी तक नोटिस का जवाब नहीं दिया है। हालांकि, वो आयकर विवरणी भरती हैं।

त्योहारों के देखते हुए आजकल हर छोटी-बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों ने ग्राहकों को लुभाने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग पर ढेर सारे ऑफर दे रखे हैं। कपड़े, ज्वैलरी से लेकर होम फर्नीचर और रोजमर्रे की वस्तुओं पर छूट के साथ-साथ ईनामी ऑफर भी हैं। इसलिए लोग जमकर खरीददारी कर रहे हैं लेकिन इस उत्साह में लोगों को यह ध्यान रखना चाहिए कि उसकी हर खरीददारी पर इनकम टैक्स अफसरों की निगाहें हैं।

Read also-आयकर विभाग ने दो साल में छापों में ₹56,378 करोड़ की अघोषित आय का पता लगाया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग