ताज़ा खबर
 

500/1000 के नोट बैन पर कैब ड्राइवर ने दिया ऐसा मैसेज, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

"पीएम मोदी अक्सर अपने भाषणों में कहते हैं कि देश का आम आदमी हमेशा देशहित में कठोर फैसले मानने के लिए तैयार रहता है।"
प्रतीकात्मक चित्र

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोट बैन की घोषणा के बाद से एक तरफ लोग नोट बदलवाने के लिए परेशान हैं तो दूसरी तरफ आम लोग खुल्ले पैसे के लिए भी परेशान हैं। हालात इतने खराब हैं कि लोगों को बैंकों और एटीएम केन्द्रों पर घंटों लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। इस बीच एक कैब ड्राइवर ने खुले पैसे को लेकर ऐसा बयान दिया कि वह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। अब तक 27 हजार लोगों ने कैब ड्राइवर के बयान पर प्रतिक्रियाएं दी हैं।

दरअसल, दिल्ली निवासी विप्लव अरोड़ा ने अपने घर से रेलवे स्टेशन जाने के लिए एक कैब बुक किया था। चूंकि उनके पास सिर्फ 500 के नोट थे इसलिए उन्होंने ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के जरिए किराया भरना चाहा। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है, “कैब का किराया ओला मनी में कुल जमा राशि से थोड़ा ज्यादा हो गया। इसलिए बची रकम मैंने नकद देना चाहा।” लेकिन एटीएम काम नहीं कर रहा था और ट्रेन पकड़ने की जल्दी थी। इस बात को कैब ड्राइवर भी जानता था कि इस छोटी से रकम के लिए कोई भी खुल्ला नहीं देगा।

वीडियो देखिए: 500, 1000 के नोट बदलवाने जा रहे हैं? रखें इन बातों का ध्यान

किराया नहीं दे पाने की कश्मकश के ओला ड्राइवर विपिन कुमार समझ रहा था। उसने विप्लव से कहा, “सर, बाकी के पैसे रहने दीजिए, दो पैसे कम कमा लेंगे, थोड़ी सी तकलीफ होगी और वो तो सब को हो रही है, अब सरकार के फैसले का सम्मान करते हुए देश की तरक्की में ये हमारा योगदान ही समझ लेंगे। आप बेफिक्र होकर अपनी ट्रेन पकड़िए।”

विप्लव अरोड़ा ने अपने पोस्ट के आखिर में कैब ड्राइवर की तारीफ की है। अरोड़ा ने लिखा है, “पीएम मोदी अक्सर अपने भाषणों में कहते हैं कि देश का आम आदमी हमेशा देशहित में कठोर फैसले मानने के लिए तैयार रहता है।” बतौर विप्लव कैब ड्राइवर ने भी इस बात को सच साबित किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    akshay kumar
    Nov 12, 2016 at 12:23 pm
    हमारे प्रधान सेवक के द्वारा राष्ट्र हित में एक साहसी कदम जिसे एक साधारण ड्राइवर ने समझा , लेकिन गद्दार नासमझ एक बार फिर मोदी विरोध में राष्ट्र विरोधी होना ही मुनासिब समझा ! मेरी संवेदना!!!!!!!!!!
    (2)(0)
    Reply
    1. F
      farzi kumar
      Nov 12, 2016 at 7:11 pm
      घूसखोरो की मोदीजी ने ऐसी फाड़ी है की सुई धागा ले कर सड़को पर भक्त भक्त किये घूम रहे है....... सिलाई करवाने का कोई फायदा नहीं क्योंकि २०१९ के चुनाव में जब मोदीजी फिर चुने जायेंगे तब अपने आप सिलाई फिर उधड़ जायेगा
      (2)(0)
      Reply
      1. M
        milind
        Nov 13, 2016 at 4:15 am
        ऐसे लोगों की इस देश मे कमी नही है पर वे लोग जो हर चीज में नकारात्मक देखने के आदी है उन्हे ये सब दिखाई नही देगा यही सच्ची राष्ट्रभक्ति है गला फाडू नारे लगाना नही
        (0)(0)
        Reply
        1. S
          Sidheswar Misra
          Nov 12, 2016 at 9:41 am
          bhagt bhagat hota he .
          (0)(0)
          Reply
          1. A
            akshay kumar
            Nov 12, 2016 at 12:08 pm
            और गद्दार गटर का कीड़ा होता है । मेरी संवेदना!☺☺☺☺
            (2)(0)
            Reply
          सबरंग