ताज़ा खबर
 

IIT मद्रास बीफ फेस्ट: छात्र से पिटाई के मामले में 9 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

आईआईटी मद्रास में ‘बीफ फेस्ट’ आयोजित कराने के बाद छात्र से मार-पीट के मामले में पुलिस ने 9 के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।
बीफ फेस्ट आयोजित करने पर छात्र के साथ मारपीट। (Photo Source: Twitter/ANI)

आईआईटी मद्रास में ‘बीफ फेस्ट’ आयोजित कराने के बाद छात्रों के साथ मार-पीट की वारदात की खबर सामने आई थी। वहीं इस मामले में पुलिस ने अब नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। समाचार एजंसी एएनआई के मुताबिक यह जानकारी सामने आ रही है। पुलिस ने इस केस की जांच करते हुए 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। दरअसल केंद्र सरकार ने एक नोटिफिकेशन जारी कर पशुओं की ब्रिकी(स्लॉटर के लिए) पर बैन लगा दिया है। सरकार के बिक्री पर बैन के इस फैसले के विरोध में आईआईटी मद्रास के छात्रों ने ‘बीफ फेस्ट’ का आयोजन कराया था। आईआईटी मद्रास के एक पीएचडी छात्र सूरज को कथित दक्षिणपंथी छात्रों ने गोवंश काटने के आरोप बुरी तरह से पिटाई कर दी। रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार के फैसले का विरोध करते हुए आईआईटी कैंपस में बीफ फेस्ट का आयोजन किया गया था जिसमें लगभग 50 स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया था। फेस्ट का आयोजन बीते 29 मई को कराया गया था।

बता दें केंद्र सरकार ने वध के लिए मंडियों से पशु बिक्री पर रोक लगाने का फैसला किया था। इस फैसले का केरल में बड़े पैमाने पर विरोध हुआ था। केरल सरकार ने नरेंद्र मोदी सरकार के इस कदम को फासीवादी बताया है। केरल के मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी इस कदम को आड़े हाथों लिया था। वहीं मद्रास हाईकोर्ट ने भी केंद्र के इस फैसले पर रोक लगाई थी। हाईकोर्ट ने फैसले पर 4 हफ़्ते की रोक लगाई थी। हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने कहा कि लोगों की ‘फूड हैबिट’ तय करना सरकार का काम नहीं है। अदालत ने केन्द्र सरकार और राज्य सरकार से इस मामले में 4 हफ़्ते में जवाब मांगा है। वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी इस फैसले का विरोध किया था। ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के इस कदम को असंवैधानिक करार दिया था और चुनौती दी थी।  उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल इस फैसले को नहीं मानेगा और न ही वह इसके लिए बाध्य है। यह मोदी सरकार द्वारा देश के संघीय ढांचे को हतोत्साहित करने और नष्ट करने के लिए उठाया गया कदम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    amit
    May 31, 2017 at 12:51 pm
    पिटाई तो होनी ही थी ..... क्या कोई AMU , जामिआ या हैदराबाद यूनिवर्सिटी में के मीट की पार्टी करके देखो ...... फिर क्या होता है.... दंगे हो जायेगे ......
    (0)(0)
    Reply