December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार शख्स ने कहा-डीएम से सीएम तक किसी ने नहीं सुनी फ़रियाद, तब मैंने फहराया पाकिस्तानी झंडा

पुलिस ने उसके घर पर पाकिस्तानी झंडा लगे होने का नोटिस 3 नवंबर की शाम को लिया जब विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने चंद्रपाल के घर के बाहर विरोध-प्रदर्शन शुरू किया।

Author November 13, 2016 11:45 am
चंद्रपाल की पत्नी पूनम और बहन रजनी को उम्मीद है कि वो जल्द बरी होगा (एक्सप्रेस फोटो- इशिता मिश्रा)

देशद्रोह के आरोप में कानपुर जेल में बंद 36 साल के चंद्रपाल सिंह का कहना है कि वह देशद्रोही नहीं है। वह एक आम आदमी है और व्यवस्था से परेशान है। चंद्रपाल ने कहा, “यही वजह है कि मैंने अपने घर की छत पर पाकिस्तानी झंडा लहरा दिया।” चार सदस्यों वाले परिवार में चंद्रपाल अकेला रोटी का जुगाड़ करने वाला सख्स है। ऊपर से बुजुर्ग पिता की जिम्मेदारी भी कंधों पर है। वह मानता है कि उसने कुछ भी गलत नहीं किया है। चंद्रपाल ने कहा, “मैं एक आम आदमी हूं, जिसकी कहीं सुनवाई नहीं हुई। गरीबों की कोई सुनता नहीं, उन्हें जेल में डालना भी सबसे आसान है।” उसने कहा, “देखिए, जैसे ही मैंने पाकिस्तानी झंडा अपनी छत पर लहराया, अब हर कोई उसकी बात सुनने लगा है।”

कानपुर जेल की खिड़की पर बात करते हुए चंद्रपाल ने कहा, “मैंने खुद पाकिस्तान का झंडा बनाया और हरे रंग के कपड़े पर चांद और सितारे के आकार का सफेद कपड़ा चिपकाया।” उसने नजदीकी पी रोड मार्केट से कपड़े खरीदे थे। उसने कहा कि उसे इसका आइडिया एक न्यूज चैनल को देखते समय आया था।

दरअसल, चंद्रपाल का आरोप है कि अमीर और रसूखदार पड़ोसी ने अवैध तरीके से उसके घर को गिरा दिया और अपना नया घर अवैध तरीके से बनाने लगा। जब उसने पुलिस अधिकारियों से संपर्क किया और उसका काम बंदा करा दिया तो वो उसे धमकी देने लगा। फिर उसे बिजली और पानी के बेतहाशा बढ़े हुए बिल मिले। जब इसकी शिकायत उसने कानपुर विकास प्राधिकरण और कानपुर नगर निगम में करनी चाही तो कोई सुनने वाला नहीं था। इसके बाद उसने डीएम, एसएसपी, सीएम और गवर्नर को भी चिट्ठी लिखी।

पुलिस ने चंद्रपाल के घर पर पाकिस्तानी झंडा लगे होने का नोटिस 3 नवंबर की शाम को तब लिया जब विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने चंद्रपाल के घर के बाहर विरोध-प्रदर्शन शुरू किया। इसके बाद सिसामऊ थाने के एसएचओ ने चंद्रपाल को देशद्रोह और दंगा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया और उस पर मुकदमा कर दिया। इसके बाद कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया।

वीडियो देखिए: “उत्तर प्रदेश चुनावों से पहले कोई गठबंधन नहीं”: मुलायम सिंह यादव

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 13, 2016 11:32 am

सबरंग