December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

इस मंदिर में 15,000 रुपए की पूजा करके पा सकते हैं मनचाहा जीवनसाथी

इस मंदिर की सालाना आवक 100 करोड़ है। यह आवक तिरुमाला मंदिर के बाद सबसे ज्यादा है।

इस मंदिर में देश भर से लोग वीजा के लिए भी पूजा करने आते हैं।

अगर आपकी शादी नहीं हो रही है और शादी करने की इच्छुक हैं पर किन्हीं कारणों से आपकी शादी टल जाती है तो आपके लिए यह खबर अच्छी है। आंध्र प्रदेश के चित्तूर में स्थित श्रीकालहस्ती मंदिर में पूजा करवा कर आप अपना जीवनसाथी ढूंढ़ सकते हैं। इसके लिए आपको इस मंदिर में नाग प्रतिष्ठा पूजा करवा करवानी होगी। इस पूजा में आपका कुल खर्चा 15, 000 रुपए होगा। यह पूजा तिरुमाला में होने वाली वस्त्रम पूजा के बाद दूसरी सबसे महंगी पूजा है। तिरुमाला से करीब 40 किमी दूर स्थित यह शिव मंदिर 700 साल पुराना है। इस मंदिर में होने वाली राहु-केतु पूजा और कालसर्प दोष पूजा पूरे देश में मशहूर है। किसी व्यक्ति को कालसर्प दोष तब होता है जब उसकी कुंडली में सारे ग्रहों को राहु घेर लेता है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति की शादी में रुकावट आती है और उनको संतान की प्राप्ति में भी समस्याएं आती हैं। इस मंदिर की सालाना आवक 100 करोड़ है। यह आवक तिरुमाला मंदिर के बाद सबसे ज्यादा है। इन मंदिरों में नाग प्रतिष्ठा पूजा की जाती है। तिरुमाला मंदिर वीजा बालाजी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। बताया जाता है कि यहां आने वाले लोग विदेश जाने के लिए वीजा मांगने के लिए पूजा करते हैं। यहां आने वाले लोगों का विश्वास है कि इस मंदिर में पूजा करने पर उन्हें विदेश जाने के लिए वीजा मिल जाता है।

वीडियो: राम मंदिर पर बोले सुब्रमण्यम स्वामी; कहा- “राम मंदिर बीजेपी के घोषणापत्र का हिस्सा, इससे भाग नहीं सकते

वीजा या फिर अन्य मनोकामना पूरी होने के बाद इस मंदिर की 108 परिक्रमा पूरी करनी होती है। हैदराबाद के बाहरी इलाके में स्थित यह मंदिर भगवान बालाजी का है। 500 साल पुराने इस मंदिर में हर महीने करीब 4 से 5 लाख लोग दर्शन के लिए आते हैं।

Read Also: तेलंगाना के पुजारी ने तिरुमाला मंदिर से मांगा 1,000 करोड़ रुपए का बकाया, कोर्ट में लगाई याचिका

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 21, 2016 1:04 pm

सबरंग