ताज़ा खबर
 

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर चौपट दिखती है सुरक्षा व्यवस्था

यहां के रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम तो दूर मेटल डिटेक्टर तक चालू हालत में नहीं है। यात्रियों के सामान की एक्सरे जांच की भी व्यवस्था नहीं है।
Author चंडीगढ़ | January 3, 2016 02:13 am

यहां के रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम तो दूर मेटल डिटेक्टर तक चालू हालत में नहीं है। यात्रियों के सामान की एक्सरे जांच की भी व्यवस्था नहीं है। यहां से दर्जनों गाड़ियां आती-जाती हैं और हजारों लोगों की भीड़ यहां होती है। ऐसे में कोई भी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकता है। पठानकोट में शनिवार सुबह वायुसेना के अड्डे पर हुए आतंकी हमले के बाद भी स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था में खामियां साफ दिख रही हैं।
स्टेशन पहुंचने के लिए दो प्रवेश द्वार हैं। एक चंडीगढ़ और दूसरा पंचकूला की तरफ है। शताब्दी और अन्य अहम गाड़ियों के समय यहां पुलिसकर्मी देखे जा सकते हैं लेकिन बाकी समय ऐसा नहीं होता। चंडीगढ़ की तरफ के प्रवेश द्वार पर दो मेटल डिटेक्टर हैं जरूर लेकिन फिलहाल वे काम नहीं कर रहे। यही हालत पंचकूला की तरफ भी है। यात्रियों के सामान की जांच के लिए यहां एक्सरे सिस्टम नहीं है। दोनों प्रवेश द्वारों के अलावा खुले स्थान से भी किसी अप्रिय घटना को अंजाम दिया जा सकता है।
पठानकोट की आतंकी घटना के बाद सुरक्षा प्रबंधों पर बातचीत के लिए स्टेशन पर मौजूद यात्रियों ने इसे लापरवाही का उदाहरण बताया। पंचकूला के रोहित कुमार ने बताया कि रेल प्रशासन को लोगों की सुरक्षा पर गंभीरता दिखानी चाहिए। आज ही पंजाब में आतंकी घटना हुई है, वहां तो सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रहती है। बावजूद इसके आतंकी घटना हो गई। यहां तो सुरक्षा के कोई इंतजाम भी नहीं हैं। अरुण गुप्ता ने बताया प्रवेश द्वार के आसपास उसने किसी सुरक्षाकर्मी को नहीं देखा। आतंकी घटना से सबक लेते हुए यहां सुरक्षा प्रबंध और कड़े होने चाहिए थे लेकिन यहां सब सामान्य दिख रहा है।

मेटल डिटेक्टर के काम न करने पर जीआरपी के कर्मी ने बताया कि तारों में गड़बड़ी की वजह से ऐसा हो या है। इन्हें ठीक करने के लिए कहा जा चुका है, जल्द ही खराबी दूर हो जाएगी और ये काम करने लगेंगे। अंबाला में जीआरपी के अधीक्षक राकेश आर्य ने बताया कि चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा प्रबंधों के जायजे के निर्देश दे दिए गए हैं। अधिकारी को जिम्मेवारी सौंपी जा रही है। उनकी जानकारी में वहां पर्याप्त स्टाफ है, शनिवार दोपहर बाद प्रवेश द्वारों पर पुलिकर्मी की गैर मौजूदगी की जांच कराई जाएगी। मंडलीय रेल प्रबंधक (डीआरएम) अंबाला, दिनेश कुमार ने बताया कि जीआरपी के वरिष्ठ अधिकारी को अवगत कराया जाएगा। सुरक्षा प्रबंधों में किसी खामी को जल्द दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग