ताज़ा खबर
 

डेरा में रेप: टीवी पर रोई महिला, भाजपा प्रवक्ता से कहा- आपकी बच्ची भी हो सकती है, कुछ कीजिए

पूजा बहुखण्डी नाम की ये महिला समाज सेविका ने रामरहीम के साथ 80 कारों के काफिले ले जाने पर सवाल खड़े करते हुए राजनीतिक पार्टियों और बाबाओं के साठगांठ पर सवाल खड़े किए।
पूजा बहुखण्डी टीवी पर अपनी बात रखते हुए रोने लगी।

बाबा राम रहीम को हुई सजा पर एक टीवी डिबेट में महिला समाज सेविका अपने आप पर काबू नहीं रख पाई। बीजेपी से सवाल पूछते पूछते टीवी पर ही भावुक हो गईं और अपने आंसू नहीं रोक पाईं। पूजा बहुखण्डी नाम की ये महिला समाज सेविका ने रामरहीम के साथ 80 कारों के काफिले ले जाने पर सवाल खड़े करते हुए राजनीति और बाबाओं के साठगांठ पर सवाल खड़े किए। उन्होंने बीजीपे पर बाबा राम रहीम को भगाने की साजिश रचने का आरोप लगाया। इसके बाद वो बीजेपी प्रवक्ता पर जमकर बरसी। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि अभी भी राम रहीम के डेरों में सैकड़ों लड़कियां हो सकती हैं। आपने क्या कार्रवाई की, आपको सिर्फ अपने वोट बैंक दिखता है किसी बच्ची की अस्मिता नहीं दिखती है। ऐसे गुंडों के यहां घुसकर छापे मारिए लेकिन आप लोग नहीं मारेंगे क्योंकि ये आपका वोट बैंक हैं। आप वोटर को नाराज नहीं करेंगे, भगवान से डरिए, इन बच्चियों में आपकी बच्ची भी हो सकती है। उस आश्रम में अभी भी और भी बच्चियां हो सकती है बचाइए उन्हें। इसके साथ ही उन्होंने दूसरे ऐसे फर्जी बाबाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई ना करने पर राजनीतिक पार्टियों को फटकार लगाई। टैक्स में मिलने वाली छूट पर भी सवाल खड़े करते हुए उन्होंने पूछा कि क्यों इन पांच सितारा बाबाओं को टैक्स में छूट दी जाती है। कई बार वो अपनी बात करते करते रोने लगी। राम रहीम के अलावा भी पिछले कुछ महीनों में और भी ऐसे कई बाबा जेल के पीछे पहुंचे हैं।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने सोमवार को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को अपनी दो शिष्याओं के साथ दुष्कर्म करने और आपराधिक धमकी देने के अपराध में 10 10 साल कैद की सजा सुनाई है। सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा बीते शुक्रवार को गुरमीत राम रहीम 1999 में अपनी दो शिष्याओं के साथ दुष्कर्म करने और आपराधिक धमकी देने के दोषी करार दिए गए थे। मामले में शिकायत 2002 में दर्ज हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.