ताज़ा खबर
 

प्रद्युम्न हत्याकांड की होगी सीबीआई जांच, सीएम मनोहर खट्टर ने की परिजनों से बातचीत

गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर के मुताबिक सदर पुलिस थाने के एसएचओ अरुण सिंह को भी ससपेंड कर दिया गया है।
मारे गए बालक प्रद्युम्न के पिता।

सर्वोच्च न्यायालय रेयान इंटरनेशनल स्कूल के एक सात वर्षीय छात्र की हत्या मामले में पीड़ित के पिता की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा। मृतक बच्चे के पिता ने मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए.एम. खानविल्कर और न्यायमूर्ति डी.वाय. चंद्रचूड़ अपराह्न् मामले की सुनवाई कर रहे हैं। वरुण चंद्रा ठाकुर ने पिछले सप्ताह हुई अपने सात वर्षीय बेटे प्रद्युम्न की हत्या की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराए जाने की मांग की थी जिसे मंजूरी मिल चुकी है। वहीं राज्य के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने प्रद्युम्न के परिजनों से बातचीत की। सीएम के अलावा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी प्रद्युम्न के माता-पिता से फोन पर बातचीत की है। इसके साथ ही नीतीश ने सीएम खट्टर से भी बात कर बच्चे के परिवार से मिलकर शोक व्यक्त करने के लिए कहा।

इस केस में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए स्कूल ग्रुप के उत्तरी भाग के हेड फ्रांसिस थॉमस को गिरफ्तार कर लिया है। एएनआई के अनुसार फ्रांसिस थॉमस को रविवार की रात गिरफ्तार किया गया। फ्रांसिस के अलावा भोंडसी ब्रांच के कोर्डिनेटर को भी गिरफ्तार किया गया है। गुरुग्राम पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई कर रही है। गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर के मुताबिक सदर पुलिस थाने के एसएचओ अरुण सिंह को भी ससपेंड कर दिया गया है।

गौरतलब है कि कक्षा दो के प्रद्युम्न का गला रेता हुआ शव शुक्रवार सुबह स्कूल टॉयलेट में मिला था। प्रद्युम्न शुक्रवार सुबह करीब 8.15 बजे स्कूल आया था। आधे घंटे के बाद 8.45 बजे स्कूल प्रबंधन ने बच्चे के पिता को कॉल किया और हादसे की जानकारी दी थी। इसी बीच स्कूल बस के कंडक्टर ने अपना गुनाह कबूल करते हुए कहा था कि उसने हवस में नाकाम होने के चलते प्रद्युम्न का गला चाकू से रेत दिया था। वहीं बच्चे के परिजनों का कहना है कि कंडक्टर को केवल मोहरा बनाया जा रहा है इसमें स्कूल प्रशासन की गलती है। इस हत्या के पीछे एक बहुत बड़ी साजिश है। प्रद्युम्न के परिजनों ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग