May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

महिला ने पुलिस में की शिकायत- हमारे कुत्ते मारकर लोगों को मोमोज, मटन बिरयानी और कबाब खिला रहे ढाबे वाले

'ब्राउनी' और 'मोटू' दोनों की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई है। गुड़गांव पुलिस ने इस मामले में फिलिप नाम के एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है।

लापता कुत्ते का पोस्टर।

देश की राजधानी नई दिल्ली से सटे साइबर सिटी गुड़गांव के पॉश इलाकों से पालतू कुत्ते गायब हो रहे हैं। शक जताया जा रहा है कि अवैध बूचड़खानों के बंद होने के बाद से इन कुत्तों को शिकार बनाया जा रहा है और मोमोज, बिरयानी और कबाब के रूप में उन्हें होटलों में परोसा जा रहा है। एचटी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक गुड़गांव के डीएलएफ फेज-2 में रहने वाली अनुपमा श्रीवास्तव का डॉगी ‘ब्राउनी’ एक अप्रैल से गायब है। उन्हें शक है कि सिकंदरपुर के लोगों ने उसे गायब कर अपना निवाला बना लिया है। यह समस्या सिर्फ अनुपमा की नहीं है। पड़ोस का ‘मोटू’ (एक डॉगी का नाम) भी 11 अप्रैल से गायब है। उसके मालिक ने भी यही शक जताया है।

अब अनपुमा ने अपने डॉगी को खोजने के लिए ‘जस्टिस फॉर ब्राउनी’ नाम से एक ऑनलाइन मुहिम चलाई है। इस ऑनलाइन पिटीशन को अब तक 458 लोगों का सपोर्ट मिल चुका है। अनुपमा को उम्मीद है कि जल्द ही सपोर्टर्स की संख्या में इजाफा होगा। इस ऑनलाइन पिटीशन में आरोप लगाया गया है कि शहर के होटलों में इसी तरह गायब हो रहे कुत्तों का मांस मोमोज, बिरयानी और कबाब में परोसा जा रहा है। इस पर रोक लगाने की मांग की गई है।

‘ब्राउनी’ और ‘मोटू’ दोनों की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई है। गुड़गांव पुलिस ने इस मामले में फिलिप नाम के एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है। लेकिन पुलिस ने सबूतों के अभाव में उसे गिरफ्तार नहीं किया है। इस बीच पुलिस का कहना है कि वे लोग मामले की तहकीकात कर रहे हैं और गुनहगारों को ढूंढ़ने की कोशिश कर रहे हैं। डीएलएफ फेज 2 के एसएचओ सुदीप कुमार ने कहा, “ब्राउनी के अपहरण से जुड़े केस में फिलिप नाम के एक संदिग्ध को हिरासत में लिया गया था लेकिन कुछ ठोस सुराग हाथ नहीं लग सका। इसके बाद उसे छोड़ दिया गया। हालांकि, कुछ लीड्स मिले हैं जिस पर हमारी टीम काम कर रही है। हमें उम्मीद है कि हम जल्द ही ब्राउनी का पता लगा लेंगे।”

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले यूपी के कानपुर में पुलिस ने एक होटल में छापेमारी की थी जहां कुत्तों को काटा जा रहा था ताकि उसे मटन बिरयानी में परोसा जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 12, 2017 2:37 pm

  1. No Comments.

सबरंग