ताज़ा खबर
 

पिछले साल हरियाणा में हुए जाट आरक्षण आंदोलन के पीड़ितों को मुआवजा देगी मनोहर लाल खट्टर सरकार

पिछले साल जाट आरक्षण को लेकर हुए आंदोलन में गोली लगने से घायल लोगों को एक लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।
हरियाणा सीएम मनोहर लाल खट्टर। साल 2015 में सीएम खट्टर ने गौसेवा आयोग का गठन किया था।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पिछले साल हुए जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान घायल हुए लोगों को मुआवजा देने का फैसला किया है। इस मुआवजे का भुगतान मुख्यमंत्री राहत कोष द्वारा किया जाएगा। मुआवजा देने के पीछे सरकार का मकसद है कि इससे जाटों को राहत तो मिलेगी ही इसके साथ ही वे अभी चल रहे आरक्षण के लिए आंदोलन करना बंद कर देंगे। आंदोलन में गोली लगने से घायल लोगों को सरकार एक लाख रुपए का मुआवजा देगी। इसके साथ ही अन्य कारणों से गंभीर चोट और फ्रेक्चर आने लोगों को पचास हजार रुपए की मुआवजा राशि दी जाएगी। इसके अलावा खट्टर सरकार ने मामूली रुप से घायलों को बीस-बीस हजार रुपए देने का प्रावधान रखा है।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले जाटों के धरने को सम्बोधित करने पहुंचे विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने मनोहर लाल खट्टर सरकार को धमकी देते हुए कहा था कि सरकार जाटों के सब्र की परीक्षा न ले। इस बार हरियाणा की भाजपा सरकार को उसके मंसूबों में कामयाब नहीं होने देंगे। पिछली बार की तरह इस बार धर्म और जाति के नाम पर राजनीति नहीं होने देंगे। इसके बाद चौटाला ने सरकार को धमकी देते हुए कहा था कि अगर सरकार जाटों की बात नहीं मानती है तो 27 फरवरी को शुरू होने वाले विधानसभा सत्र को वे चलने नहीं देंगे।

आपको बता दें कि 2016 में इस जाट आंदोलन में 30 से ज्यादा लोगों की जानें चली गई थीं और करोड़ों रुपए की संपत्ति नष्ट हो गई थी। प्रदर्शनकारियों ने कई सरकारी और निजी इमारतें क्षतिग्रस्त कर दी थीं। पिछले साल आंदोलन का कोई फायदा न होता देखकर जाट 29 जनवरी से शांतीपूर्ण धरने पर बैठे हुए है। शिक्षा और सरकारी नौकरियों में आरक्षण सहित अन्य मांगों को लेकर हरियाणा के 19 जिलों में इस समय जाट आरक्षण आंदोलन के धरने चल रहे हैं। केंद्र सरकार ने हरियाणा की मदद के लिए अर्धसैनिक बलों की 57 कंपनियां भेजी हुई हैं। इसके अलावा हरियाणा पुलिस और करीब 7000 होमगार्ड जवानों को भी धरनास्थलों पर तैनात रखा गया है। वहीं 19 फरवरी को जाटों ने शहीदी दिवस मनाने का ऐलान कर रखा है। इस कार्यक्रम में दूसरे राज्यों के जाट भी शामिल हो सकते हैं।

देखिए वीडियो - हरियाणा निकाय चुनावों में बीजेपी जीती; अमित शाह बोले- “नोटबंदी पर मुहर है बीजेपी की जीत”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग