ताज़ा खबर
 

हरियाणा सरकार ने पत्रकारों के नाम जारी किया नोटिस, लिखा- सीएम से बात करते हुए इस बात का रखें ध्यान

पत्रकारों को जारी किए गए आदेश में लिखा है, 'इस संबंध में बरती गई लापरवाही के लिए आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।'
हरियाणा सीएम मनोहर लाल खट्टर। (File Photo)

हरियाणा के सोनीपत में पत्रकारों से मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से दूरी बनाए रखने के लिए कहा गया है। जिला सूचना एवं जनसपंर्क अधिकारी, सोनीपत के नाम से जारी किए गए पत्र में कहा गया है, ‘अक्सर देखने में आया है कि मुख्यमंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस या बाइट लेने के दौरान पत्रकार व फोटोग्राफर अपने माइक, कैमरा इत्यादि उपकरण मुख्यमंत्री महोदय के बिल्कुल नजदीक ले जाते हैं, जोकि सुरक्षा की दृष्टि से सही नहीं है। इस वजह से मुख्यमंत्री को भी परेशानी आती है तथा सुरक्षाकर्मियों को दिक्कत होती है।’ साथ ही लिखा है, ‘भविष्य में आप द्वारा इस संबंध में बरती गई लापरवाही के लिए आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।’

सोनीपत जिला सूचना एवं जनसपंर्क अधिकारी नाम से जारी किया गया इस पत्र में लिखा है कि इसकी कॉपी उपायुक्त, सोनीपत और निदेशक, सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग हरियाणा, चंडीगढ़ को भी भेजी गई है। पत्र में साथ ही सलाह दी गई है, ‘सभी संवाददाता व छायाकार एक बार ही बाइट लें। एक बार बाइट लेने के बाद भी कुछ पत्रकार व कैमरामैन बार-बार मुख्यमंत्री के पास जाते हैं, यह भी सुरक्षा की दृष्टि से सही नहीं है। इसलिए आप सभी भविष्य में इन हिदायतों की अनुपालना करें तथा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम, प्रेस कॉन्फ्रेंस व बाइट लेने के दौरान सुरक्षी की दृष्टि से उचित दूरी बनाए रखें।’

जब इस मामले पर विवाद बढ़ा तो हरियाणा जन संपर्क विभाग के महानिदेशक समीर पाल सारो ने सफाई देते हुए कहा कि विभाग ने ऐसा कोई निर्देश जारी नहीं किया है। उन्होंने कहा कि उक्त अधिकारी ने अपने स्तर पर ही ऐसा किया है। जिसके खिलाफ अनुशासनात्मक करवाई की जा रही है। वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के मीडिया सलाहकार अमित आर्य का कहना है कि सोनीपत जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी पत्र का सरकार और जनसंपर्क से कोई लेना देना नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Nov 15, 2017 at 8:41 am
    बीजेपी की मनोहरलाल खट्टर सरकार,आज़ाद हिन्दोस्तान की सबसे निकम्मी सूबाई हुकूमत है ! ये हमेशा मुजरिमों का साथ देती है , चाहें तथाकथित संत रामपाल हो, रामरहीम हो, जाट आंदोलन के बलात्कारी और आगजनी करने वाले दंगाई हों या रेयान स्कूल के प्रधुम्न के कातिल ! हर matter में खट्टर सरकार ने अपने निकम्मेपन का मुज़ाहिरा किया और अदालती दखल के बाद ही कार्रवाई हो पायी !
    (3)(0)
    Reply
    1. M
      manish agrawal
      Nov 15, 2017 at 8:40 am
      बीजेपी की मनोहरलाल खट्टर सरकार,आज़ाद हिन्दोस्तान की सबसे निकम्मी सूबाई हुकूमत है ! ये हमेशा मुजरिमों का साथ देती है , चाहें तथाकथित संत रामपाल हो, रामरहीम हो, जाट आंदोलन के बलात्कारी और आगजनी करने वाले दंगाई हों या रेयान स्कूल के प्रधुम्न के कातिल ! हर मा े में खट्टर सरकार ने अपने निकम्मेपन का मुज़ाहिरा किया और अदालती दखल के बाद ही कार्रवाई हो पायी !
      (1)(0)
      Reply