ताज़ा खबर
 

प्रद्युम्न मर्डर केस: गिरफ्तार किए गए छात्र के पिता का आरोप- CBI मेरे बेटे को कर रही है प्रताड़ित

मेरे बेटे को प्रताड़ित किया गया। उसे उलटा लटकाकर पीटा गया। मेरा बेटा निर्दोष है।
आठ सितंबर को जब स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या की घटना सामने आई थी, तब पुलिस ने स्कूल-बस के कंडक्टर को गिरफ्तार कर उसे एक तरह से कातिल घोषित कर दिया था।

गुरुग्राम की एक किशोर अदालत ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किशोर को 22 नवंबर तक 11 दिनों के लिये फरीदाबाद के एक सुधार गृह भेज दिया उन्होंने बताया कि इससे पहले दिन में गिरफ्तार किशोर को सीबीआई रेयान स्कूल ले गई ताकि अपराध का नाटकीय रूपांतरण किया जा सके। इसकी एजेंसी ने वीडियोग्राफी की। वह स्कूल में 11 वीं कक्षा का छात्र था।  सूत्रों ने बताया कि टीम आरोपी के साथ दोपहर के करीब स्कूल पहुंची और तीन घंटे से अधिक समय तक वहां रही। उसके बाद उसे किशोर अदालत ले जाया गया जहां मामले में सुनवाई होने वाली थी।

सूत्रों ने बताया कि टीम ने किशोर से कहा कि वह आठ सितंबर को हुई घटना को स्पष्ट करे जब स्कूल की दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की कथित तौर पर उसने हत्या कर दी थी। उससे स्कूल के माली समेत अन्य कर्मचारियों की मौजूदगी में यह सब बताने को कहा गया। उन्होंने बताया कि माली कथित तौर पर उन शुरूआती लोगों में से एक था जिसे आरोपी ने सूचित किया था कि वाशरूम के निकट एक लड़का घायल अवस्था में पड़ा हुआ है। हालांकि इस सारे मसले पर आरोपी छात्र के पिता ने सीबीआई पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए  जांच एजेंसी के अफसरों ने उनके बेटे के साथ बेहद क्रूर बर्ताव किया। उन्होंने कहा, ‘मेरे बेटे को प्रताड़ित किया गया। उसे उलटा लटकाकर पीटा गया। मेरा बेटा निर्दोष है। क्या आप यह सोच सकते हैं कि 11वीं का छात्र किसी का मर्डर करने के बाद इतने दिनों तक सामान्य व्यवहार कर सकता है।?’  उन्होंने कहा कि उनके बेटे को उलटा लटाकाकर पीटा गया है। हालांकि सीबीआई ने इस तरह के सभी आरोपों को खारिज किया है।

प्रद्युम्न गत आठ सितंबर की सुबह रेयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में मृत पाया गया था। उसका गला रेता हुआ था। यह घटना उसके पिता के उसे स्कूल छोड़ने के एक घंटे के भीतर हुई थी। गुरुग्राम पुलिस ने हत्या का ठीकरा स्कूल के बस कंडक्टर पर फोड़ते हुए उसे गिरफ्तार किया था। इस मामले ने तब नाटकीय मोड़ लिया जब सीबीआई ने हाल में घोषणा की कि उसने प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में स्कूल में ही 11 वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र को गिरफ्तार किया है। उसने गुरुग्राम पुलिस की पूरी थ्योरी को नकार दिया जिसमें उसने कहा था कि प्रद्युम्न की हत्या स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार ने की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.