ताज़ा खबर
 

रोजगार कार्यालय ने मुहैया कराई तीन साल में तीन नौकरी

हरियाणा की पूर्ववर्ती हुड्डा सरकार जहां युवाओं को इन दफ्तरों के माध्यम से रोजगार प्रदान करने के मामले में सवालों के घेरे में रही है वहीं मौजूदा भाजपा सरकार इस मामले में और भी पीछे आ गई है।
Author चंडीगढ़ | July 16, 2017 02:34 am
मनोहर लाल खट्टर

हरियाणा सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार कार्यालयों के माध्यम से नौकरी देने के लिए खोले गए रोजगार कार्यालय अब बेमानी साबित हो रहे हैं। सरकार ने पिछले तीन वर्षों के कार्यकाल के दौरान केवल तीन युवाओं को ही रोजगार प्रदान किया है। यह आंकड़ा प्रदेश के सरकारी खजाने में सर्वाधिक राजस्व देने वाले गुरुग्राम मंडल रोजगार कार्यालय का है। यह खुलासा आरटीआइ के तहत मिली जानकारी से हुआ है।हरियाणा की पूर्ववर्ती हुड्डा सरकार जहां युवाओं को इन दफ्तरों के माध्यम से रोजगार प्रदान करने के मामले में सवालों के घेरे में रही है वहीं मौजूदा भाजपा सरकार इस मामले में और भी पीछे आ गई है। हुड्डा सरकार ने अपने कार्यकाल के छह वर्षों के भीतर जहां औसतन हर साल 14 लोगों को रोजगार प्रदान किया वहीं मौजूदा मनोहर लाल खट्टर सरकार में यह औसत गिरकर महज एक तक सिमट गया है।गुरुग्राम की मानव आवाज संस्था के संयोजक अभय जैन ने सरकार ने वर्ष 2009 से अब तक रोजगार कार्यालयों के माध्यम से युवाओं को मिली नौकरी और बेरोजगारी भत्ते के बारे में जानकारी मांगी थी। सरकार से मिला जवाब बताता है कि खट्टर सरकार ने 2015, 2016 और 28 फरवरी 2017 तक केवल तीन युवाओं को ही नौकरी दी है। हर वर्ष एक-एक युवा को नौकरी मिली।

यह स्थिति अकेले गुरुग्राम नहीं बल्कि प्रदेशभर के रोजगार कार्यालयों की है। पूर्व की हुड्डा सरकार में भी रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत युवाओं को नौकरी के मामले में कोई खास काम नहीं हुआ। मौजूदा सरकार की तुलना में 2009 से लेकर 2014 की अवधि में हुड्डा सरकार ने पंजीकृत बेरोजगार युवाओं में से 82 को नौकरी मुहैया कराई।रोजगार कार्यालयों के माध्यम से पंजीकृत बेरोजगार युवाओं को मासिक भत्ता दिया जाता है। 2009 में पंजीकृत युवाओं में से गुरुग्राम मंडल में 1800, 2010 में 2502 तथा 2011 में 2194 युवाओं को भत्ता दिया गया। इसके बाद भत्ता हासिल करने वाले युवाओं की संख्या घटती चली गई। 2012 में 853, 2013 में केवल 90 और 2014 में 102 युवाओं को ही बेरोजगारी भत्ता मिला। अक्तूबर 2014 में सत्ता में आई खट्टर सरकार ने 2015 में 148, 2016 में 203 और 2017 में 31 मार्च तक केवल 60 युवाओं को ही भत्ता दिया।

गुरुग्राम मंडल रोजगार कार्यालय का हाल
हुड्डा सरकार ने छह साल में दी थी केवल 82 बेरोजगारों को नौकरी। यानी औसतन हर साल 14 बरोजगारों को नौकरी दी गई। बहरहाल मौजूदा खट्टर सरकार ने हर साल एक-एक बेरोजगार को नौकरी दी है। खट्टर सरकार ने बरोजगारी भत्ता पाने वालों की संख्या भी घटा दी है। सरकार ने 2017 में 31 मार्च तक केवल 60 युवाओं को ही भत्ता दिया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 16, 2017 2:34 am

  1. No Comments.
सबरंग