ताज़ा खबर
 

4 साल की मूक बच्ची से ज्यादती, 58 साल का आरोपी गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार बच्ची अपने घर से बाहर खेल रही थी तभी आरोपी ने उसे मिठाई देने का लालच देकर अपने घर में बुला लिया।
पीड़िता ने बताया कि जब वो दोपहर के समय खेत पर शौच के लिए गई तो वहां पर पहले से मौजूद तीन लोगों ने उसे अकेला पाकर पकड़ लिया और गोली मारने की धमकी देने लगे।(तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है)

गुड़गांव में मंगलवार (22 नवंबर) को एक 58 वर्षीय व्यक्ति को एक चार वर्षीय मूक बच्ची के संग कथित बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार घटना गुड़गां के गंगोला गांव में सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे के बीच हुई। आरोपी और पीड़ित बच्ची एक ही गांव के निवासी हैं। बच्ची के माता-पिता मजदूरी करते हैं। पुलिस के अनुसार घटना के समय बच्ची घर से बाहर खेल रही थी तभी आरोपी ने उसे मिठाई देने का लालच देकर अपने घर में बुला लिया।

पुलिस के अनुसार आरोपी जगदीश कार पेंटर है और वो अपनी पत्नी के साथ रहता है लेकिन घटना के समय वो घर से बाहर गई हुई थी। आरोपी की एक बेटी और एक बेटे का पिता है। उसकी बेटी की शादी हो चुकी है और बेटा दिल्ली में पढ़ाई करता है। मामले के पुलिस जांच अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “उसने लालच देकर लड़की को घर में बुलाया और उसके साथ यौन दुर्व्यवहार किया।”

पुलिस के अनुसार घटना तब सामने आई जब बच्ची की मां को इस बात का अहसास हुआ कि उसकी बेटी काफी देर से गायब है। जब वो अपनी बच्ची को खोजने निकली तो वो उसे जगदीश के घर से रोती हुई बाहर आती दिखी। पीड़ित बच्ची ने अपनी मां को आपबीती बताई जिसके बाद आरोपी के खिलाफ सोहना पुलिस थाने में पोस्को एक्ट एवं अन्य संबंधित कानून के तहत मामला दर्ज कराया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी को गुरुवार को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया और उसे भोंडसी जेल भेज दिया गया है। पुलिस के अनुसार पीड़ित बच्ची को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है और उसके स्वास्थ्य में सुधार आ रहा है।

साल 2012 में दिल्ली में चलती बस में एक लड़की से संग सामूहिक बलात्करा के बाद दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते बलात्कार के मामलों पर तीव्र विरोध प्रदर्शन हुए थे। जिसके बाद सरकार ने बलात्कार से जुड़ा कड़ा कानून बनाया। नाबालिग बच्चों के यौन शोषण के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए केंद्र सरकार ने विशेष पोस्को कानून बनाया है। लेकिन राजधानी में बलात्कार के मामलों में कोई कमी आती नहीं दिख रही है।

वीडियोः देखिए किस तरह कानून बनानों ने की विधान सभा में मारपीट-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग