March 30, 2017

ताज़ा खबर

 

दशानन के भक्तों ने ‘रावण मोक्ष दिवस’ के रूप में मनाया दशहरा

दशहरे पर रावण के पुतले न फूंकने की अपील करते हुए विजयादशमी के पर्व पर आज यहां सैकड़ों लोगोंं ने अपनी 46 वर्ष पुरानी परंपरा के मुताबिक दशानन की पूजा की।

Author इंदौर | October 11, 2016 13:55 pm
Bhopal: Effigies of demon king Ravana, Kumbhkaran and Meghnaad installed at the ground ahead of the Dussehra festival in Bhopal on Tuesday.PTI Photo(PTI10_20_2015_000071B)

दशहरे पर रावण के पुतले न फूंकने की अपील करते हुए विजयादशमी के पर्व पर आज यहां सैकड़ों लोगोंं ने अपनी 46 वर्ष पुरानी परंपरा के मुताबिक दशानन की पूजा की। रावण भक्तों के स्थानीय संगठन ‘जय लंकेश मित्र मंडल’ के अध्यक्ष महेश गौहर ने कहा, ‘‘हमने दशहरे के दिन को रावण मोक्ष दिवस के रूप में मनाया। हमने रावण का मंदिर भी बनवाया है जहां मंत्रोच्चार और यज्ञ..हवन के साथ उनकी मूर्ति की पूजा की गयी।’ उन्होंने बताया कि दशहरे पर परदेशीपुरा क्षेत्र में रावण के मंदिर में आरती हुई, कन्याओं का पूजन किया गया और रावण भक्तों को खीर का प्रसाद भी बांंटा गया। गौहर के मुताबिक रावण भक्तों का संगठन वर्ष 1970 से यहां दशहरे के मौके पर सार्वजनिक रूप से ‘दशानन पूजा’ करता आ रहा है जो हिंदुओं की प्रचलित धार्मिक मान्यताओं से एकदम उलट है। उन्होंने कहा, ‘‘रावण भगवान शिव के परम भक्त और प्रकांड विद्वान थे। लिहाजा हम लोगों से विनम्र अपील करते हैं कि दशहरे पर जगह..जगह रावण के पुतलों का दहन बंद किया जाये।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 11, 2016 1:53 pm

  1. No Comments.

सबरंग