ताज़ा खबर
 

गुजरात: महिलाओं ने जिस मंदिर को बनाने के लिए दिया था चंदा, उसी में नहीं मिल रहा प्रवेश

यहां गांव में मंदिर बनवाने के लिए महिलाओं ने चंदा दिया था, लेकिन मंदिर प्रशासन उन्हें 'अपवित्र' बताते हुए अंदर नहीं जाने दे रहा है।
मुस्लिम परिवार द्वारा दो कट्ठा जमीन मंदिर के लिए दान कर देने से इलाके में हर समुदाय के लोगों खुश हैं। (Source image : IE)

गुजरात के एक गांव में महिलाओं को उसी मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है, जिसके निर्माण के लिए उन्होंने चंदा दिया था। मामला प्रदेश के सुरेंद्रनगर जिले के रामदेवपुर गांव का है। यहां गांव में मंदिर बनवाने के लिए महिलाओं ने चंदा दिया था, लेकिन मंदिर प्रशासन उन्हें ‘अपवित्र’ बताते हुए अंदर नहीं जाने दे रहा है। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि ऐसी ही एक महिला लक्ष्मी परमार ने मंदिर के लिए दो बार में 10 हजार रुपए दिए थे। लेकिन अब उन्हें मंदिर के अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है। इन महिलाओं को माहवारी के कारण ‘अशुद्ध’ ठहराया गया है।

रिपोर्ट में लक्ष्मी के हवाले से लिखा गया है, ‘अन्य गांववालों की तरह मैंने भी दो बार में 10 हजार रुपए दिए थे। कई बार तो घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया था लेकिन मैंने पैसे जुटाने की पूरी कोशिश करके मंदिर के लिए दिए।’ लक्ष्मी की तरह ही कई और महिलाओं ने कड़ी मेहनत कर मंदिर के लिए रुपए जोड़े। लेकिन गांव का एक समुदाय इन महिलाओं को मंदिर में प्रवेश नहीं करने दे रहा है।

बता दें, ऐसे मामले पहले भी कई बार सामने आए हैं। शनि मंदिर, सबरीमाला मंदिर और मुंबई स्थित हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश को लेकर पिछले साल काफी विवाद हुआ था। महिलाओं के एक संगठन ने इसके लिए कोर्ट में याचिका भी दाखिल की थी। कोर्ट ने महिलाओं को पक्ष में फैसला सुनाते हुए उन्हें मंदिर में प्रवेश करने की इजाजत दी थी। लेकिन इसके बाद भी काफी विवाद हुआ था। कोर्ट ने कहा था कि किसी भी धार्मिक स्थान पर पूजा अर्चना करने का हक महिलाओं के मूलभूत अधिकार में शामिल है। कोर्ट ने राज्य सरकार को मंदिर में प्रवेश करने के मामले में कानून को कड़ाई से लागू करने के आदेश दिए थे।

देखिए वीडियो - गुजरात: सोमनाथ मंदिर में प्रार्थना करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

ये वीडियो भी देखिए - गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर पहुंचीं अनुराधा पौडवाल, लखनऊ में कार्यक्रम के बाद किए भगवान के दर्शन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. चक्रपाणि पांडेय
    Mar 8, 2017 at 3:02 pm
    महिलाओ को प्रवेश न देना निन्दनीय है, ये भेदभाव मानव निर्मित हैं. प्रवेश रोकने वालो के विरुद्ध कडी कानूनी कार्यवाही करनी चाहिए.
    (0)(0)
    Reply
    1. B
      bitterhoney
      Mar 8, 2017 at 5:06 pm
      मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर रोक लगाने वालों के खिलाफ मोदीजी को तुरंत सर्जिकल स्ट्राइक करनी चाहिए.उनको देशद्रोही घोषित करना चाहिए.
      (0)(0)
      Reply