December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

भुज: दो संदिग्ध ISI एजेंट गिरफ्तार, ATS ने दर्ज की प्राथमिकी

सरकारी गोपनीयता अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत एक प्राथमिकी आरोपी के खिलाफ आज दर्ज की गई।

Author कच्छ | October 14, 2016 02:18 am
(प्रतीकात्मक फोटो)

भुज शहर में देर रात के अभियान में गुजरात आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने दो संदिग्ध आइएसआइ एजंटों को गिरफ्तार किया। वो सेना और बीएसएफ के जवानों की गतिविधियों के बारे में अपने पाकिस्तानी आकाओं को कथित तौर पर संवेदनशील सूचना भेजने में शामिल थे।  सरकारी गोपनीयता अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत एक प्राथमिकी आरोपी के खिलाफ आज दर्ज की गई। अधिकारियों ने बताया कि एटीएस दोनों पर करीबी नजर रख रही थी जब पाकिस्तान की खुफिया एजंसी आइएसआइ के लिए जासूस के तौर पर उनकी संदिग्ध भूमिका के बारे में उसे जानकारी मिली। उनकी पहचान अलाना हमीर समा (40) और शकूर सुमरा (38) के तौर पर की गई है। समा भुज तालुका के कुकमा गांव का रहने वाला है जबकि सुमरा जिले के भुज तालुका में सुमरापुर का रहने वाला है।

एटीएस के पुलिस उपाधीक्षक बी एच चावडा ने कहा, ‘हम कुछ समय से दोनों पर करीबी नजर रख रहे थे क्योंकि हमें जानकारी मिली कि वो इस क्षेत्र में सेना और बीएसएफ के जवानों की मूवमेंट के बारे में अपने पाकिस्तान स्थित आइएसआइ आकाओं को सूचना भेज रहे थे।’उन्होंने बताया, ‘हमने दोनों को कल रात पकड़ा जब वो आइएसआइ के साथ और सूचना साझा करने के बारे में चर्चा करने के लिए भुज बस स्टेशन आए।’ एटीएस की आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार पाकिस्तानी कंपनी द्वारा बनाए गए एक मोबाइल फोन को आलाना के पास से बरामद किया गया। वह पिछले दो बरसों से आइएसआइ के संपर्क में था।

कहा गया, ‘आलाना के पास से एटीएस ने पाकिस्तान में बना एक मोबाइल फोन, पाकिस्तान में जारी उसका पहचानपत्र और यहां जारी एक आधार कार्ड बरामद किया। शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि वह हाल में भारतीय पासपोर्ट पर चार बार पाकिस्तान गया।’ विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों से भुज में विभिन्न राज्य और केंद्रीय एजंसियां उनसे और सूचना निकलवाने के लिए पूछताछ कर रही हैं।यह कार्रवाई भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के बीच की गई है। हाल में भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा के उस पार आतंकवादियों के ठिकाने पर लक्षित हमला किया था। उसके बाद गुजरात और खासतौर पर राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों में आतंकवादी हमले के खतरे की वजह से हाई अलर्ट जारी किया गया था।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 2:18 am

सबरंग