ताज़ा खबर
 

13,000 करोड़ के कालेधन की घोषणा करने वाले गुजराती बिजनसमैन ने कहा- नेताओं और बाबुओं की थी रकम

गुजराती बिजनसमैन महेश शाह काफी दिनों से लापता चल रहा था।
गुजरात का कारोबारी महेश शाह। (फाइल फोटो)

13,860 करोड़ रुपए का कालाधन घोषित करने वाले गुजराती बिजनसमैन महेश शाह के परिवार को पुलिस सुरक्षा दी गई है। कालेधन की घोषणा करने के बाद से वह गायब चल रहा था। शाह शनिवार को मीडिया से रूबरू हुआ और दावा किया कि उसने यह घोषणा कमीशन के लालच में की थी। न्यूज चैनल ईटीवी गुजराती से बात करते हुए शाह ने कहा, ‘यह मेरा पैसा नहीं है। यह पैसा नेता, बाबू और बिल्डर्स सहित कई लोगों का पैसा था।’ बाद में पुलिस और आयकर विभाग की टीम चैनल के दफ्तर पहुंची और उसे हिरासत में ले लिया। वहां से उसे पूछताछ के लिए अज्ञात जगह ले जाया गए।

शाह न्यूज चैनल से बात करते हुए साथ ही कहा कि उन्‍होंने कमीशन के लालच में कुछ लोगों के कहने पर अघोषित संपत्ति का खुलासा किया। उन्‍होंने कहा, ‘मैं आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने लोगों के नामों का खुलासा करूंगा। मैं कहीं भाग नहीं रहा था लेकिन कुछ कारणों से मैं मीडिया से दूर रहा। जिन लोगों ने अपनी रकम का खुलासा किया था वे ऐन मौके पर पीछे हट गए इसके चलते मैं टैक्‍स की पहली किश्‍त नहीं भर पाया। जल्‍द ही मैं सबका खुलासा कर दूंगा। जिन लोगों की संपत्ति का खुलासा किया वे कारोबारी और राजनेता हैं। मैंने गलती की लेकिन सबका खुलासा जल्‍द ही हो जाएगा। पूरे मामले में सच की जीत होगी।’

आयकर विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अभी उसकी आय के स्रोत का पता नहीं चला है, हो सकता है कि उसने गुजरात, महाराष्ट्र और दक्षिण भारत में रियल एस्टेट में निवेश कर रखा हो। शाह पिछले एक महीने से लापता चल रहा था। इसने सितंबर महीने में 13 हजार करोड़ रुपए की घोषणा की थी। शाह ने इंकम डिक्लेरेशन स्कीम के तहत इस रकम की घोषणा की थी। शाह 25 फीसद अघोषित रकम की राशि जमा कराने की आखिरी तारीख 30 नवंबर के कुछ दिन पहले गायब हो गया था। आयकर अधिकारियों ने शाह के घर और दफ्तर में उसको ढूंढ़ा था। इसके साथ ही कालेधन की घोषणा करने में मदद करने वाले चार्टड अकाउंटेंट के घर पर भी तलाशी की थी।

एनडीटीवी से बात करते हुए अकाउंटेंट ने बताया, ‘वह 12वीं क्लास तक पढ़ा हुआ है और बहुत ही तेज हैं। मैं आपको बता सकता हूं कि उसके बहुत अच्छे संपर्क हैं और उसने कई बड़ी डील की हैं। मेरे पास उसकी क्षमता पर शक करने की कोई गुंजाइस नहीं थी।

वीडियो में देखें- नोटबंदी के बाद हैदराबाद से पकड़े गए 95 लाख, बेंगलुरु से 4.7 करोड़; ज़्यादातर नोट 2000 के

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.