ताज़ा खबर
 

अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन: मोदी-आबे ने किया शिलान्‍यास, पीएम बोले- ‘दोस्‍त’ का कर्ज 50 साल में चुकाना है

Bullet Train in India: अहमदाबाद-मुंबई हाई-स्पीड रेल प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत 1.08 लाख करोड़ रुपये है।
Bullet Train in India: मुंबई से अहमदाबाद के बीच की 508 किलोमीटर के बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट पर 1,10,000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके जापानी समकक्ष शिंजो आबे ने गुरुवार को 1.08 लाख करोड़ रुपये की लागत वाली महत्वाकांक्षी अहमदाबाद-मुंबई उच्च गति रेल परियोजना की आधारशिला रखी। भारत की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखने का समारोह साबरमती रेलवे स्टेशन के पास स्थित एथलेटिक स्टेडियम में आयोजित हुआ। मोदी और आबे ने बटन दबाकर भारत की क्रांतिकारी रेल परियोजना की शुरुआत की घोषणा की। जापान इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन एजेंसी (जेआइसीए) और केंद्रीय रेल मंत्रालय ने 508 किलोमीटर लंबे गलियारे वाली इस परियोजना के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। 750 लोगों की यात्री क्षमता वाली बुलेट ट्रेन से दोनों शहरों के बीच यात्रा का समय सात घंटे से कम होकर करीब तीन घंटे होने की उम्मीद है। इस परियोजना के 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है।

इसके बाद मोदी और आबे गुजरात की राजधानी गांधीनगर में 12वें वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। यह सम्मेलन मोदी और आबे के बीच चौथा वार्षिक शिखर सम्मेलन होगा, जहां दोनों नेता दोनों देशों के बीच विशेष रणनीतिक और वैश्विक भागीदारी के ढांचे के तहत बहुमुखी सहयोग में प्रगति की समीक्षा करेंगे। जापान उन दो देशों में से एक है, जिनके साथ भारत के ऐसे वार्षिक शिखर सम्मेलन होते हैं, दूसरा देश रूस है। दोनों देशों के प्रधानमंत्री भारत-जापान बिजनेस लीडर फोरम में भी शामिल होंगे। मोदी अहमदाबाद में पहले भी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिग की मेजबानी कर चुकें हैं।

इससे पहले, बुधवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गर्मजोशी से स्वागत के बाद दोनों नेता रोड शो करते हुए महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम और अहमदाबाद की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करती प्रतिष्ठित सिदी सैयद मस्जिद पहुंचे थे। दोनों नेताओं ने अहमदाबाद हवाई अड्डे से एक खुली जीप में साबरमती आश्रम के शांत माहौल तक आठ किलोमीटर की यात्रा की, जहां उन्होंने जापान की प्रथम महिला अकी आबे के साथ महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।

यहां पढ़ें Bullet Train Project Ahmedabad to Mumbai Updates:

– हम देश के फ्यूचर प्रूफिंग पर ध्यान दे रहे हैं ताकि आने वाली पीढ़ियों के हिसाब से इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण किया जा सके। : पीएम मोदी

– मैं मानता हूँ कि टेक्नोलॉजी सभी के लिए है। टेक्नोलॉजी का लाभ तभी है जब देश का सामान्य नागरिक भी इसका उपयोग कर सके। टेक्‍नोलॉजी ट्रांसफर से रेलवे को फायदा होगा और एक तरह से पूरा रेलवे नेटवर्क लाभान्वित होगा। इससे मेक इन इंडिया को भी मजबूती मिलेगी। डायरेक्‍ट और इनडायरेक्‍ट एंप्‍लायमेंट के हजारों अवसर भी ये प्रोजेक्ट अपने साथ लेकर आ रहा है। : पीएम मोदी

– मैं जापान का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं जो इस प्रोजेक्ट के लिए तकनीक और आर्थिक मदद के साथ भारत के सहयोग के लिए आगे आया है। इस हाई स्पीड रेलवे सिस्टम से ना सिर्फ दो जगहों के बीच दूरी कम होगी बल्कि 500 किलोमीटर दूर बसे दो शहरों के लोग भी और पास आएंगे। पूरा एरिया ही एक Single Economic Zone में परिवर्तित हो जाएगा। : पीएम नरेंद्र मोदी

– अगर कोई ये कहे कि बिना ब्याज के ही लोन ले लो और दस-बीस नहीं, पचास साल में चुकाओ, तो आप यकीन करेंगे क्या? भारत को ऐसा दोस्त मिला है जिसने बुलेट ट्रेन के लिए 88 हजार करोड़ का कर्ज सिर्फ 0.1 प्रतिशत की ब्याज दर पर देने का वादा किया है। : पीएम मोदी

– किसी भी देश में आर्थिक प्रगति का सीधा संबंध होता है प्रोडक्टिविटी से। हमारा जोर है: More Productivity with High Speed Connectivity। जब इतनी तेज गति से बदलाव आ रहा है तो आज हमारा जोर कनेक्टिविटी से आगे बढ़कर हाई स्पीड कनेक्टिविटी पर है। : पीएम मोदी

– एक अच्छा दोस्त समय और सीमा के बन्धनों से परे होता है और आज जापान ने दिखा दिया है वो भारत का मजबूत दोस्त है। : पीएम मोदी

– बुलेट ट्रेन एक ऐसी परियोजना है जो तेज गति, तेज प्रगति और उसके साथ तेज टेक्नोलॉजी के माध्यम से तेज परिणाम भी लाने वाला है। जापान भारत का एक मजबूत दोस्त है, जो समय और सीमा के बंधनों से परे है। : पीएम मोदी

– आज पूरा विश्‍व जानता है कि रेलवे आने के बाद कैसे अमेरिका में आर्थिक प्रगति हुई। : पीएम मोदी

– सपनो का विस्तार ही किसी भी देश को, किसी भी समाज को किसी भी व्यक्ति की उडान तय करने का सामर्थ्य रखता है : पीएम मोदी

– अगर इतनी तेजी से काम हो रहा है, इतनी जल्‍दी यह प्रोजेक्‍ट साकार हो रहा है तो इसका श्रेय मेरे प्रिय मित्र शिंजो आबे को जाता है।

जान‍िए पहली बुलेट ट्रेन की 10 बातें: पड़ गई नींव, समंदर के नीचे से होगा सफर, 508 कि‍मी लाइन बनाने में 1,10,000 करोड़ खर्च

– आज भारत ने बहुत अहम कदम उठाया है। मैं देश के सवा सौ करोड़ देशवासियों को मुंबई-अहमदाबाद रेल कॉरिडोर के भूमिपूजन के अवसर पर कोटि-कोटि शुभकामनाएं देता हूं। : नरेंद्र मोदी

– अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना संबोधन देने जा रहे हैं।

– जापान और भारत एशिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्र हैं, दोनों साथ मिलकर एक बड़ी ताकत तैयार करें। : शिंजो आबे

– जापान में जब से बुलेट ट्रेन सेवा शुरू हुई है, एक भी हादसा नहीं हुआ है। मैं कहना चाहूंगा कि यह दुनिया की सबसे सुरक्षित रेल सेवा है। : शिंजो आबे

– जापान ‘मेक इन इंडिया’ के लिए प्रतिबद्ध है। सभी भारतीयों के लिए जापान की सरकार और निजी कंपनियां कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार हैं। : शिंजो आबे

– जापान से 100 से भी ज्‍यादा इंजीनियर भारत आ चुके हैं। दोनों देशों के इंजीनियर मिलकर काम करेंगे। अगर जापान के इंजीनियर्स की बुद्धि और भारत के इंजीनियरों के काम करने की क्षमता मिल जाए तो क्‍या नहीं कर सकते। : शिंजो आबे

– मोदीजी ने दो साल पहले एक निर्णय लिया और न्‍यू इंडिया का सपना देखा। मैंने, मेरी सरकार ने, मेरे यहां की कंपनियों ने उसे सपने को पूरा करने की प्रतिज्ञा ली है। : शिंजो आबे

– बुलेट के शिलान्‍यास से खुश हूं। 1964 में जब जापान में पहली बुलेट आई थी, तब जापान का पुर्नजन्‍म हुआ था। : शिंजो आबे

– ताकतवर जापान भारत के हित में है, और ताकतवर भारत जापान के हित में है। इसी बात पर ध्‍यान देते हुए मैंने जोर दिया था कि प्रशांत क्षेत्र में इस सहयोग को बढ़ाया जाए। : शिंजो आबे, जापान के प्रधानमंत्री

– नरेंद्र मोदी और शिंजो आबे ने बटन दबाकर शिलान्‍यास पट्टिका का अनावरण किया गया।

– बुलेट ट्रेन पर एक वीडियो क्लिप दिखाई जा रही है, जिसमें बताया जा रहा है कि कैसे इस प्रोजेक्‍ट का विस्‍तार किया जाएगा।

– आधुनिक तकनीक, बेहतरीन सुरक्षा व तेज गति का संगम बुलेट ट्रेन विश्वस्तरीय सुविधा के साथ साथ लाखों रोजगार पैदा करेगी। : पीयूष गोयल

– ये बुलेट ट्रेन जापान और भारत के लोगों के बीच भाईचारे का प्रतीक बन रही है: पीयूष गोयल

– एक समय राजधानी एक्‍सप्रेस का भी विरोध हुआ था, आज लोग उसमें बैठना चाहते हैं। फोन रईसों की चीज मानी जाती थी, मगर आज लगभग मुफ्त हो गया है। : पीयूष गोयल

– रेलमंत्री पीयूष गोयल शिलान्‍यास कार्यक्रम में बोल रहे हैं।

– दोनों नेता अहमदाबाद में हाई स्‍पीड बुलेट ट्रेन के मॉडल का निरीक्षण कर रहे हैं।

– बुधवार को, दोनों नेता रोड शो करते हुए महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम और अहमदाबाद की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करती प्रतिष्ठित सिदी सैयद मस्जिद पहुंचे थे। दोनों नेताओं ने अहमदाबाद हवाई अड्डे से एक खुली जीप में साबरमती आश्रम के शांत माहौल तक आठ किलोमीटर की यात्रा की, जहां उन्होंने जापान की प्रथम महिला अकी आबे के साथ महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।

– कांग्रेस ने बुधवार को बीजेपी पर आरोप लगाया था कि आबे के दौरे का इस्‍तेमाल गुजरात चुनावों में लाभ उठाने के लिए किया जा रहा है।

– – द्विपक्षीय बातचीत के बाद दोनों नेता प्रेस को बयान जारी करेंगे। हमारे सहयोगी द इंडियन एक्‍सप्रेस को सूत्रों ने बताया, ”संयुक्‍त बयान में रक्षा और सुरक्षा पर फोकस होगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.