ताज़ा खबर
 

गुजरात: चुनाव घोषित होते ही दहका दाहोद, पुलिस फायरिंग में एक मौत

गांववाले कथित तौर पर पुलिस की पिटाई से हुई मौत की वजह से क्रोधित थे और हत्या का मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग कर रहे थे।
Author October 28, 2017 07:35 am
दाहोद में गांववाले द्वारा पुलिस के वाहन में आग लगा दी गयी। (Express Photo/Bhupendra Rana)

रितेश गोहिल

कथित तौर पर पुलिस हिरासत में पिटाई से हुई मौत के बाद गुजरात के दाहोद के गरबडा तालुका में गुरुवार (26 अक्टूबर) को हुई हिंसा में पुलिस की गोली से एक किसान की मौत हो गयी। कथित तौर पर हिरासत में पिटाई से हुई मौत के बाद आदिवासी बहुल गांव चिलाकोटा के क्रोधित गांववालों ने पुलिस थाने का घेराव किया। गांववाले दोषी पुलिस वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने की मांग कर रहे थे। पुलिस   ने भीड़ को हटाने के लिए गोली चलाई जिससे एक किसान घायल हो गया। गोली किसान के सिर में लगी थी। किसान की मौत के बाद इलाके में तनाव व्याप्त है। बुधवार (25 अक्टूबर) को चुनाव आयोग ने राज्य में आगामी विधान सभा चुनाव के लिए मतदान की तारीखों की घोषणा की थी।

सूत्रों के अनुसार पुलिस क्राइम ब्रांच ने कनेश गमरा (31) को गुरुवार को रात को डेढ़ बजे के करीब पूछताछ के लिए ले गयी। पुलिस गमरा से उसके भाई के बारे में पूछताछ कर रही थी जो डकैती के एक मामले में आरोपी है। गमरा के साथ एक और व्यक्ति को पुलिस लेकर गयी थी। रात को करीब तीन बजे पुलिस ने उन दोनों को छोड़ा। उसके करीब एक घंटे बाद ही गमरा की मौत हो गयी। गांववाले सुबह सात बजे गमरा का शव लेकर जेसावाड़ा पुलिस थाने पहुंचे। गांववाले गमरा से पूछताछ में शामिल पुलिसवालों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किए जाने की मांग कर रहे थे।

पुलिस जब हत्या का मामला दर्ज करने को नहीं तैयार हुई तो क्रोधित गांववालों ने पथराव शुरू कर दिया और वहां खड़ी कुछ गाड़ियों में आग लगा दी। गांववालों के पथराव में सात पुलिस वालों को चोट लगी है। पुलिस ने पहले आंसू गैस के गोले दागे और उसके बाद गोली चला दी। पुलिस की गोली से तीन लोग घायल हो गये जिनमें से एक किसान रामसु मोहनिया की मौत हो गयी। मोहनिया केे परिवार में उनकी पत्नी, तीन बेटे और तीन बेटियां हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. दिनेश
    Oct 27, 2017 at 8:11 pm
    vinaash kale vipareet buddhi
    (0)(0)
    Reply
    1. A
      ananad
      Oct 27, 2017 at 3:17 pm
      बीकानेर के भुजिया बाजार में स्थित पांचवी शताब्दी से अधिक प्राचीन चिंतामणि जैन मंदिर रखी 500 से 2025 वर्ष से अधिक प्राचीन 1116 दुर्लभ प्रतिमाओं को मंदिर भु-गर्भ भंड़ार से बाहर निकाला जायेगा। पढ़ें : : bikanerpride /bkn-chintamani-jain-temple-bkn-html/
      (0)(0)
      Reply