April 28, 2017

ताज़ा खबर

 

गुजरात सीएम विजय रुपानी बोले- जिसके मन में गाय के प्रति दया नहीं, उस पर रहम बिल्कुल नहीं

उन्होंने कहा कि गाय सिर्फ हमारे विश्वास का प्रतीक नहीं है, गावों में इसके दूध के जरिए कमाई भी होती है।

Author April 9, 2017 13:18 pm
गुजरात सीएम विजय रूपानी (Express Archives Photo)

देश में गाय और बूचड़खानों को लेकर हो रहे विवाद के बीच गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने इस मुद्दे को और गर्मा दिया है। उन्होंने कहा है कि गुजरात सरकार की उन लोगों के साथ जरा भी संवेदना नहीं है जिसके मन में गाय के प्रति दया नहीं है। विजय रुपानी ने कहा, “इस सत्र में (गुजरात विधानसभा के) हमने एक बिल पास किया है और गुजरात देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जहां गाय की हत्या करने पर उम्रकैद की सजा मिलेगी। गाय हमारी माता है। यह हमारे लिए विश्वास का प्रतीक है। राज्य सरकार ऐसे लोगों पर रहम नहीं करेगी जिनके मन में गाय के प्रति दया नहीं है।” मुख्यमंत्री ने यह बात एक जनसभा में कही। उनका यह बयान राजस्थान के अलवर में गाय ले जा रहे मुस्लिम लोगों के साथ हुई मारपीट की घटना के कुछ दिन बाद आया है।

विजय रुपानी ने कहा, “राज्य सरकार ने गाय और इसकी संतान का वध रोकने के लिए कड़े नियम बनाए हैं। गाय सिर्फ हमारे विश्वास का प्रतीक नहीं है, गावों में इसके दूध के जरिए कमाई भी होती है। गुजरात में घी और दूध की नदियां बहने दो। हमने गिर और कांकरेज जैसी गायों की प्रजातियों को बढ़ावा देने का भी फैसला किया है, ताकि जर्सी प्रजाति की गाय से छुटकारा मिल सके।”

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि गौवध को रोकने का फैसला किसानों और मवेशी-पालकों की भलाई को देखते हुए किया गया है, ताकि डेयरी के जरिए उनकी कमाई बढ़ सके। गौरतलब है कि दो हफ्ते पहले गुजरात विधानसभा में गौ हत्या संशोधन बिल पास किया गया था जिसके तहत गाय की हत्या करने वालों को अब उम्रकैद की सजा होगी। इसके साथ ही गाय की तस्करी करनेवालों को दस साल की सजा का प्रावधान है। इतना ही नहीं एक लाख से लेकर पांच लाख रुपये तक जुर्माना भी देना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 9, 2017 8:07 am

  1. M
    manish agrawal
    Apr 9, 2017 at 10:05 am
    Gau mata ki taskari aur hatya rokne ke liye Central Govt ko ek kathor kaboom banana hoga jo sabhi state governments par binding ho aur jiska violation hone par concerned state government ko barkhast kiye jaane ka bhi provision us act main hona chahiye. year 2018 main Rajyasabha main majority aate hi BJP govt ko tatkaal ye kaam karna chaahiye.Hindus ke liye Gau Mata ki rakshaa se bada koyi dharm nahi aur Gau Mata ki hatya se bada koyi paap nahi ! Narendra Modiji year 2017 ke U.P. state embly ke elections campaign main Varanasi e the aur ek ashram main unhone, Gau Mata ko apne haath se chaara khilaaya to Rahul Baba ne tanj kasaa ki Modiji, Gaay ko chaara khilaane se apka bhalaa nahi hone wala lekin dekhiye Gau Mata ne Modiji ko aashirwad diya aur BJP ko abhutpurv 325 seats mili ! Gau Mata ki seva maatra se hi 33 crore Hindu devi devta santushta ho jate hain. yadi Hindostan main rahana hai to Gau Mata ko pujya samajhana hi padega !
    Reply

    सबरंग