December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

गुजरात ATS ने सेना की जासूसी करने वाले दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया

ISI इससे पहले भी हनीट्रैप के जरिए जासूसी करवाने की कोशिशें करता रहा है।

ATS ने पिछले एक साल से दोनों संदिग्धों पर नजर रखी हुई थी।

गुजरात एटीएस ने कच्छ से दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। इन पर पाकिस्तान के लिए जासूसी करने का आरोप है। इस गिरफ्तारी के बाद एटीएस को यह जानकारी मिली कि इन व्यक्तियों को फंसाने के लिए हनी ट्रैप का इस्तेमाल किया गया था। पाकिस्तान की खूफिया एजंसी ISI ने यह हनी ट्रैप का जाल बिछाया था। पहले दोनों की जान पहचान एक पाकिस्तान महिला से कराई गई और उसके बाद दोनों पाकिस्तान के लिए जासूसी करने लगे। दोनों की पहचान मोहम्मद अलाना और साफूर सुमारा के रुप में की गई है। इन दोनों के घर से भारतीय सेना और पैरामिलेट्री फोर्स से जुड़े कई दस्तावेज बरामद किए गए हैं। खबर के मुताबिक एटीएस को पहले से ही दोनों पर शक था और पिछले एक साल से इन दोनों पर एटीएस की नजर थी। इसके अलावा घर की छानबीन करने पर दोनों के पास पाकिस्तानी सिम कार्ड और मोबाइल मिला है।

आपकों बता दें गुजरात का कच्छ जिला पाकिस्तान की सीमा से जुड़ा हुआ है। यह गिरफ्तारी उस वक्त हुई है जब भारत और पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण स्थिति है। हनी ट्रैप के जरिए जासूसी करवाने का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भटिंडा का एक एयरफोर्स का जवान भी हनी ट्रैप में फंस चुका है। हनीट्रैप ISI का पुराना हथकंडा है। ISI महिलाओं का सहारा लेकर भारतीयों से पाकिस्तान के लिए जासूसी करवाने की कोशिश करता है। हनी ट्रैप से बचने के लिए ITBP ने अपने जवानों को सतर्क रहने की सलाह दी है। साथ सोशल मीडिया पर भी संभल कर रहने की हिदायत जवानों को दी गई है। इन दिनों भारत और पाकिस्तान के बीच स्थिति तनावपूर्ण है। कुछ दिनों पहले भारत ने LOC में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। जिसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।

Read Also: PoK में आईएसआई और सेना के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग, ISI से ज्यादा वफादार कुत्ते के लगे नारे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 13, 2016 1:33 pm

सबरंग