December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

स्टाफ को दिवाली पर कार, फ्लैट और ज्वैलरी देने वाले सवजी ढोलकिया कैसे बने 6 हजार करोड़ के मालिक

ढोलकिया 6 हजार करोड़ के मालिक हैं और उनका बिजनेस 71 देशों में फैला हुआ है। एक किसान के परिवार से ताल्लुक रखने वाले ढोलकिया 13 साल की उम्र में गुजरात के अमरेली शहर से सूरत आए थे।

कर्मचारियों को दिए जाने वाले दिवाली बोनस से उन्होंने काफी सुर्खियां बटोरी थी।

सूरत में रहने वाले सवजी ढोलकिया हीरो (डायमंड) का कारोबार करते हैं। लेकिन अपने कारोबार से ज्यादा चर्चा उन्होंने कर्मचारियों को दिए जाने वाले दिवाली बोनस से बटोरी। दरअसल उन्होंने सबसे पहले 2014 में अपने कर्मचारियों को कार, मकान और ज्वैलरी दी थी। इतना महंगा दिवाली बोनस देकर वह मीडिया समेत पूरे देश की नजर में आ गए। खबर है कि इस साल भी कंपनी ने अपने 1716 कर्मचारियों को इस साल बेस्‍ट परफॉर्मर की लिस्‍ट में शामिल किया है और ऐसा ही दिवाली बोनस दिया है।

क्यों देते हैं ऐसा गिफ्ट:

दरअसल सवजी भाई का मानना है कि इस तरह वह कंपनी की तरक्की में हिस्सा रहे लोगों को प्रोत्साहित करते हैं। जहां 491 कर्मचारियों को कार दी गई, वहीं 207 को फ्लैट और 570 को ज्वैलरी दी गई है। इस तरह हर एक कर्मचारी को 4 लाख रुपए का गिफ्ट दिया गया। इस तरह के गिफ्ट देने का आइडिया ढोलकिया को तीन साल पहले आया था। उस वक्त उन्होंने 10 कर्मचारियों को इनाम के तौर पर कार दी थी।

वीडियो: इस दिवाली ATM से मिलेंगे सोने के सिक्के; नहीं लगाना पड़ेगा बाज़ार का चक्कर

ऐसे बने इतने बड़े बिजनेसमैन:

ढोलकिया 6 हजार करोड़ के मालिक हैं और उनका बिजनेस 71 देशों में फैला हुआ है। एक किसान के परिवार से ताल्लुक रखने वाले ढोलकिया 13 साल की उम्र में गुजरात के अमरेली शहर से सूरत आए थे। चौथी क्लास तक पढ़े सवजी के चाचा पहले से ही सूरत में हीरे का व्यापार करते थे, सवजी ने यहां आकर उनके साथ काम शुरू कर दिया। इसके बाद उनके दो और भाई हिम्मत और तुलसी भी इसी काम में साथ जुड़ गए। हालांकि 1984 में तीनों भाईयों ने खुद का डायमंड बिजनेस शुरू कर दिया। सालों के संघर्ष के बाद 1991 में उन्होंने हरिकृष्णा एक्सपोर्ट्स की स्थापना की। उनके सबसे छोटा भाई घनश्याम भी तीनों भाईयों के साथ आ गया था। उन्होंने मुंबई में एक ऑफिस खोल लिया और कंपनी अमेरिका और यूरोप के कई देशों में डायमंड का निर्यात करने लगी। कंपनी ने निर्यात शुरू करने के पहले साल में ही 1 करोड़ रुपए के कारोबार का आंकड़ा छू लिया था।

वीडियो: जनसत्ता की पूरी टीम की तरफ से आप सबको दिवाली और धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएं

Read also: दिवाली 2016: बोनस में कार और मकान देने वाले कारोबारी सवजी ढोलकिया एक बार फिर चर्चा में

ढोलकिया ने बताया, “वर्तमान में हमारी कंपनी 6 हजार करोड़ रुपए का कारोबार करती है।” ढोलकिया के अनुसार उनकी कंपनी अभी 50 देशों के ल‌िए ही हीरा सप्लाई करती है। दुनिया के 200 देश अभी बांकी है। उन्होंने कहा कि हम अपने कर्मचारियों को लगातार प्रोत्साहित करते रहते हैं, यही वजह है कि हम उन्हें दिवाली पर इस तरह का गिफ्ट देते हैं। कंपनी हर साल इस लॉयल्टी प्रोग्राम में 50 करोड़ रुपए खर्च करती है।

Read also: बोनस में फ्लैट-कार देने वाले 6000 करोड़ के मालिक ने बेटे से करवाई 4 हजार की नौकरी

बेटे को भी सिखाई कड़ी मेहनत:

उनका बेटा धृव्य 21 साल का है, जो यूएस में MBA कर रहा है। पिछले दिनों धृव्य भी काफी सुर्खियों में था। दरअसल सवजी ढोकलिया ने अपने बेटे को ‘जिंदगी के गुर’ सीखाने के लिए उससे 4000 रुपए महीने की नौकरी करवाई थी। धृव्य को उसके पिता ने तीन जोड़ी कपड़े और 7 हजार रुपए दिए थे और कहा था कि कि एक ऐसे शहर में रोजगार और रुकने का ठिकाना ढूंढने जहां वह पहले कभी ना गया हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 6:59 pm

सबरंग